Britain: मृत समझा जा रहा शख्स पांच वर्ष बाद वापस आया

Britain: मृत समझा जा रहा शख्स पांच वर्ष बाद वापस आया

लंदन. ब्रिटेन के कैम्ब्रिजशायर में एक दंग कर देने वाली घटना सामने आई है. यहां पर एक कर्मी को ढूंढ़ निकाला गया है जोकि बीते पांच वर्षों से गायब हो गया था. पुलिस ने उसे मृत समझ लिया था, तभी एक दिन आकस्मित फेसबुक एकाउंट से उसके मिलने की समाचार मिली.. पांच वर्ष बाद पुलिस ने उसे लकड़ी मार्केट में छिपा पाया.

सितंबर 2015 में विस्बेच, कैम्ब्रिजशायर के 35 वर्षीय रिकार्डस पुइसीस को आखिरी बार उनके कार्यस्थल पर देखा गया था. उसका कोई निशान नहीं मिला, लेकिन बीते वर्ष नवंबर में उसके नाम से एक फेसबुक एकाउंट स्थापित किया गया था.

बीते महीने वह विस्बेच के मार्केट में एक लकड़ी के अंदर छिपा पाया गया था. पुलिस का मानना है कि वह उन लोगों के चंगुल से बचने के लिए यहां छिप गया था जो उसका उत्पीड़न कर रहे थे. अब उसे सुरक्षित रखा जा रहा है व पुलिस इस मुद्दे की जाँच कर रही है. लिथुआन के रहने वाले शख्स की आखिरी लोकेशन 26 सितंबर, 2015 को चटेरिस के नाइटलेयर लीक कंपनी में उनके कार्यस्थल पर हुई थी.

कैम्ब्रिजशायर के बेडफोर्डशायर के चिकित्सक बेड चॉर्स रॉब हॉल का बोलना है कि रिकार्डस उस दिन किसी कठिनाई से पीछा छुड़ाने के लिए छिप गए होंगे. इस मुद्दे को लेकर एक आदमी को मर्डर की जाँच के दौरान अरैस्ट कर लिया गया था. पुइसेस का कोई पता नहीं चला. अब उसे छोड़ दिया जाएगा.

सोशल मीडिया एकाउंट स्थापित किया

हॉल ने बोला कि पिछले वर्ष रिकार्डस पुइसीस के नाम पर एक सोशल मीडिया एकाउंट स्थापित किया गया था, जिसमें उनकी फोटोज़ भी दिखाई गईं, लेकिन ऑफिसर पुइसे को सत्यापित नहीं कर पाए. लगभग पांच वर्ष के लिए रिकार्ड्स के लापता होने का एक पूरा रहस्य बन रहा है.

जब तक कि हमें जून के अंत में जानकारी नहीं मिली थी, जिसके कारण हमें उसे ढूंढना पड़ा. "हरेकॉफ्ट रोड में एक लकड़ी वाले क्षेत्र की खोज के बाद, रिकार्डस को अंतत: जीवित अवस्था में पाया गया. बहुत अच्छी तरह से छिपने के बाद व कुछ समय के लिए किसी के साथ बात नहीं करने के बाद बहुत अच्छी तरह से छुपा हुआ था.

हॉल ने बोला कि अधिकारियों का मानना है कि पुइसेस ने बचने के लिए इस तरह का निर्णय किया. वह पहले भी उत्पीड़न का शिकार हो चुका था. हॉल ने बोला कि पुइसेस को बीते पांच या अधिक सालों के दौरान बेहद मुश्किल परिस्थितियों में रहना पड़ा. ऐसे में उसे सहारे की आवश्यकता है.