पाकिस्तान के इस जिले में मिला भगवान विष्णु का 1300 वर्ष पुराना मंदिर

पाकिस्तान के इस जिले में मिला भगवान विष्णु का 1300 वर्ष पुराना मंदिर

पेशावर: के स्वात जिले के एक पहाड़ में पाकिस्तानी  इतालवी पुरातात्विक जानकारों ने 1300 वर्ष पहले बने एक को खोज निकाला है बारिकोट घुंडई (Barikot Ghundai) में खुदाई के दौरान जानकारों को इस मंदिर का पता लगा है

1300 वर्ष पुराना भगवान विष्णु का मंदिर
खैबर पख्तूनख्वा के पुरातत्व विभाग के फजल खलीक (Fazle Khaliq) ने खोज की घोषणा करते हुए बताया कि यह मंदिर भगवान विष्णु (God Vishnu) का है उन्होंने बोला कि यह मंदिर हिंदुओं द्वारा 1300 वर्ष पहले हिंदू शाही काल के दौरान बनाया गया था

हिंदू शाही या काबुल शाही ने किया था शासन
हिंदू शाही या काबुल शाही (Hindu Shahis or Kabul Shahis) (850-1026 ई) एक हिंदू राजवंश था, जिसने काबुल घाटी (पूर्वी अफगानिस्तान), गंधार (आधुनिक पाकिस्तान)  वर्तमान उत्तर पश्चिम हिंदुस्तान में शासन किया था

मंदिर के आसपास मिली ये चीजें
खुदाई के दौरान पुरातत्वविदों को मंदिर स्थल के पास छावनी  प्रहरी की मिनारें (Watchtowers) भी मिली हैं इसके अतिरिक्त जानकारों को मंदिर के पास एक पानी का कुंड भी मिला है, जिसे हिंदुओं द्वारा पूजा से पहले स्नान करने के लिए प्रयोग किया जाता था

स्वात में गंधार सभ्यता का पहला मंदिर
फजल खलीक ने कहा, 'स्वात जिला हजार वर्ष पुराने पुरातत्व स्थलों का घर है  इलाके में पहली बार हिंदू शाही काल के निशान मिले हैं ' इतालवी पुरातात्विक मिशन के प्रमुख चिकित्सक लुका ने कहा, 'यह स्वात जिले में मिला गंधार सभ्यता का पहला मंदिर है '

स्वात जिले में कई पर्यटन स्थल हैं मौजूद
स्वात जिला पाक के शीर्ष 20 स्थलों में से एक है, जो प्राकृतिक सुंदरता, धार्मिक पर्यटन, सांस्कृतिक पर्यटन  पुरातात्विक स्थलों जैसे हर तरह के पर्यटन का घर है स्वात जिले में बौद्ध धर्म (Buddhism) के भी कई पूजा स्थल स्थित हैं


कमला हैरिस ने US के उपराष्‍ट्रपति के रूप में शपथ ग्रहण करके रचा इतिहास

कमला हैरिस ने US के उपराष्‍ट्रपति के रूप में शपथ ग्रहण करके रचा इतिहास

56 साल की कमला हैरिस ने अमेरिका के उपराष्ट्रपति पद की शपथ लेकर इतिहास रचा। वे पहली महिला, अश्वेत और भारतवंशी उपराष्ट्रपति बनीं। कमला हैरिस को शपथ सुप्रीम कोर्ट की न्यायमूर्ति सोनिया सोटोमायोर दिलाया। यह कार्यक्रम इस लिहाज से भी ऐतिहासिक होगा कि पहली अश्वेत दक्षिण एशियाई महिला उप राष्ट्रपति को पहली लातिन अमेरिकी न्यायमूर्ति द्वारा शपथ दिलाई गई।

कमला हैरिस का जन्म 1964 में ऑकलैंड में हुआ था। उनकी मां का नाम श्यामला गोपालन हैरिस था जबकि उनके पिता जमैका के रहने वाले हैं। उनका नाम डोनाल्ड हैरिस है। वह स्टैनफोर्ड यूनिवर्सि‍टी में इकनॉमिक्स के प्रोफेसर थे। कमला ने कहा कि उनकी मां की उनके जीवन में अहम भूमिका है। उन्‍होंने कहा कि मेरी मां ने मुझे और मेरी बहन माया को सिखाया कि आगे बढ़ते रहना हमारे और अमेरिका की हर पीढ़ी पर निर्भर करता है। उन्होंने हमें सिखाया कि केवल हाथ पर हाथ रखकर मत बैठो और चीजों के बारे में शिकायत मत करो, बल्कि कुछ करके दिखाओ। कमला को उनकी मां की सलाह हर रोज  प्रेरित करती है। यहीं कारण है कि आज हैरिस इस मुकाम तक पंहुच पाई है।


श्यामला गोपालन का सफरनामा

1958 में तमिलनाडु की रहने वाली श्यामला गोपालन ने अपनी प्रतिभा का लोहा मनवाया। उस जमाने में उन्‍होंने यूनिवर्सिटी ऑफ कैलिफोर्निया बर्कले में अध्‍ययन के लिए हिलगार्ड स्‍कॉलरशिप परीक्षा पास किया। इस स्‍कॉलरशिप से श्‍यामला को अमेरिका आने का मौका मिला। 1960 में श्‍यामला ने कैलिफोर्निया यूनिवर्सिटी बर्कले से अपनी मास्‍टर डिग्री पूरी की। डिग्री पूरी करने के बाद वह भारत नहीं लौटीं। 1962 में श्यामला के पति डोनॉल्‍ड हैरिस से उनकी पहली बार मुलाकात मुलाकात हुई। उस वक्‍त वह एक अमेरिकी-अफ्रीकी संघ को संबोधित कर रहे थे। श्यामला उनके भाषण से बहुत प्रभावित हुई थीं।

अमेरिका में नागरिक अधिकार आंदोलन हो रहा था, तब कमला हैरिस के माता-पिता ऑकलैंड की गलियों में न्याय के लिए रैलियां करने के दौरान छात्रों के तौर पर एक दूसरे से मिले। 5 जुलाई, 1963 में श्‍यामला ने अमेरिकी अफ्रीकी मूल के डोनॉल्‍ड हैरिस के साथ विवाह किया। 1964 में श्‍यामला ने यूनिवर्सिटी ऑफ कैलिफोर्निया बर्कले में डॉक्टरेट पूरा किया।

शपथ ग्रहण में शामिल नहीं होंगे कमला हैरिस के मामा


अमेरिका की नवनिर्वाचित उपराष्ट्रपति कमला हैरिस के मामा गोपालन बालचंद्रन शपथ ग्रहण समारोह में शामिल नहीं होंगे। उनका कहना है कि महामारी अपने चरम पर है और ऐसे समय में खतरा मोल लेना ठीक नहीं रहेगा। अगर वह ऐसे समय अमेरिका जाते हैं तो अनावश्यक रूप से मीडिया का ध्यान आकर्षित होगा। नई दिल्ली में रहने बालचंद्रन से जब हैरिस को किसी तरह की सलाह देने के बारे में पूछा गया तो उन्होंने कहा, 'मेरे पास उन्हें संदेश देने लायक कुछ भी नहीं है। उन्होंने यह सब अपने दम पर किया है। मैंने उन्हें उपराष्ट्रपति बनने में किसी तरह की मदद नहीं की। आपकी मां श्यामला ने जो कुछ भी सिखाया है, वह करें। अभी तक सब ठीक कर रही हैं। बस इसी तरह से लगी रहें।' 


राजस्थान रॉयल्स ने स्टीव स्मिथ को किया रिलीज, संजू सैमसन होंगे टीम के नए कप्तान       केदार जाधव समेत ये खिलाड़ी हुए बाहर, सुरेश रैना को IPL 2021 के लिए CSK ने किया रिटेन       भुवनेश्वर कुमार समेत सभी बड़े खिलाड़ियों को सनराइजर्स ने किया रिटेन       57 खिलाड़ी हुए रिलीज, देखिए पूरी लिस्ट और नीलामी में कितने पैसे लेकर उतरेंगी टीमें       लसिथ मलिंगा ने IPL से लिया संन्यास, मुंबई इंडियंस के रिटेन खिलाड़ियों में नहीं नाम       कोरोना की दूसरी लहर ने पुरुषों पर डाला ज्यादा प्रभाव, अध्‍ययन में किया गया दावा       कमला हैरिस ने US के उपराष्‍ट्रपति के रूप में शपथ ग्रहण करके रचा इतिहास       अमेरिका के 46वें राष्ट्रपति बनें जो बाइडेन, तस्वीरों में देखें शपथ ग्रहण समारोह       अमेरिका के 46वें राष्ट्रपति बने बाइडन, कहा- मैं सभी का राष्ट्रपति, जिन्होंने वोट नहीं दिया, उनका भी, मोदी ने दी बधाई       इनॉगरेेेेेशन सेरेमनी में लेडी गागा ने गाया राष्ट्रीय गान       लौटने का वादा कर ट्रंप ने व्हाइट हाउस छोड़ा, कहा...       मल्लिका शेरावत ने फिर बटोरी सुर्खियां, शेयर की ग्लैमरस तस्वीरें       सुरभि चंदना ने स्विमिंग पूल में की ऐसी मस्ती, वीडियो देख फैंस हुए मदहोश       किंग खान की लाडली बेटी सुहाना ने कुछ इस अंदाज में किया नए साल का स्वागत       अनन्या पांडे का दिखा दिलकश अंदाज, देखें वायरल तस्वीरें       बेहद कातिलाना नजर आई मल्ल‍िका शेरावत, तस्वीरें देख फैंस हुई मदहोश       काजल अग्रवाल ने हिमाचल की वादियों में कुछ इस अंदाज में नए साल की शुरुआत       इंस्टाग्राम पर देसी अवतार में अपनी तस्वीरें अपलोड कर इस एक्ट्रेस ने मचाया तहलका       नोरा फतेही के इस लेटेस्ट वीडियो ने सोशल मीडिया पर लगाई आग       बैकलेस मरून ड्रेस में उर्वशी रौतेला ने सोशल मीडिया पर ढाया कहर, तस्वीरों में देखें कातिलाना अंदाज