पहले अमेरिकी राष्ट्रपति जिन पर दूसरी बार महाभियोग चलेगा, निचले सदन का बहुमत-ट्रम्प ने भड़काई कैपिटल हिल्स में हिंसा

पहले अमेरिकी राष्ट्रपति जिन पर दूसरी बार महाभियोग चलेगा, निचले सदन का बहुमत-ट्रम्प ने भड़काई कैपिटल हिल्स में हिंसा

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प के खिलाफ महाभियोग चलाने का प्रस्ताव हाउस ऑफ रिप्रेजेंटेटिव (निचले सदन) में पास हो गया है। ट्रम्प पहले ऐसे अमेरिकी राष्ट्रपति बन गए हैं, जिस पर दूसरी बार महाभियोग चलेगा। उन पर देश के खिलाफ विद्रोह भड़काने का आरोप है। कुछ रिपब्लिकन सांसदों ने भी ट्रम्प पर महाभियोग चलाने के पक्ष में वोट किया है।

निचले सदन में महाभियोग चलाने का प्रस्ताव पूर्ण बहुमत से पास हुआ है। सीएनएन के मुताबिक प्रस्ताव के पक्ष में 232 और विरोध में 197 वोट डाले गए। पक्ष में वोट करने वाले सांसदों का मानना है कि ट्रंप दंगे भड़काने के आरोपी है। ट्रम्प की रिपब्लिकन पार्टी के भी 10 सांसदों ने उनके खिलाफ वोट किया है।

प्रस्ताव पारित होने से पहले ट्रम्प ने लोगों से अपील करते हुए कहा कि अब कोई हिंसा नहीं होनी चाहिए। कोई भी कानून तोड़ने वाला काम या किसी तरह की बर्बरता नहीं होनी चाहिए। यह वह नहीं है जिसके लिए मैं खड़ा रहता हूं। यह वह नहीं है जिसके लिए अमेरिका खड़ा रहता है। मैं सभी अमेरिकियों से अपील करता हूं कि वे तनाव कम करने और माहौल शांत करने में मदद करें।

पिछले हफ्ते समर्थकों ने तोड़फोड़ की थी

ट्रम्प के समर्थकों ने पिछले सप्ताह US कैपिटल बिल्डिंग में तोड़फोड़ की थी। इस हिंसा में एक पुलिस अफसर समेत पांच लोगों की मौत हो गई थी। इस घटना के बाद से ही ट्रम्प निशाने पर हैं। उनके खिलाफ दूसरी बार महाभियोग चलाए जाने की कार्रवाई की गई। यह सब नए राष्ट्रपति जो बाइडेन के शपथ लेने से एक हफ्ते पहले हुआ है।

US कैपिटल के अंदर और बाहर नेशनल गार्ड तैनात

ट्रम्प समर्थकों की हिंसा से सबक लेते हए US कैपिटल के बाहर बड़ी संख्या में नेशनल गार्ड तैनात किए गए थे। कड़ी सुरक्षा के घेरे में सांसदों ने लगभग एक दिन लंबी चलने वाली बहस में हिस्सा लिया। इसमें डेमोक्रेट्स को कुछ रिपब्लिकंस का साथ भी मिला। अब ट्रंप ऐसे पहले राष्ट्रपति बन गए हैं, जिनके खिलाफ दो बार महाभियोग चलाया गया।

'उस दिन जो हुआ वह विरोध नहीं विद्रोह था'

रूल्स कमेटी के चेयरमैन जिम मैक्गोवर्न ने बहस की शुरुआत करते हुए कहा कि हम उसी जगह खड़े होकर ऐतिहासिक कार्यवाही पर बहस कर रहे हैं, जहां अपराध हुआ था। मैक्गोवर्न ने कहा कि उस दिन यहां जो हुआ, वह कोई विरोध नहीं था। यह हमारे देश के खिलाफ संगठित विद्रोह था। इसे डोनाल्ड ट्रम्प ने भड़काया था।

स्पीकर बोलीं- ट्रम्प ने देश के खिलाफ विद्रोह भड़काया

हाउस स्पीकर नैंसी पेलोसी ने बहस के दौरान ट्रम्प देश के लिए खतरा बताया। उन्होंने कहा कि हम जानते हैं कि उन्होंने देश के खिलाफ विद्रोह के लिए लोगों को उकसाया। उन्हें इसके लिए जाना चाहिए। राष्ट्रपति ट्रम्प ने नवंबर में हुए चुनाव के नतीजों के बारे में में बार-बार झूठ बोला और डेमोक्रेसी पर शक किया।

महाभियोग का समर्थन कर रहीं पेलोसी ने कहा कि मेरा मानना है कि राष्ट्रपति को सीनेट की ओर से दोषी ठहराया जाना चाहिए। यह संवैधानिक उपाय उस शख्स (ट्रम्प) से हमारे गणतंत्र को सुरक्षित करेगा, जो लगातार इसे नुकसान पहुंचा रहा है। वहीं, रिपब्लिकन पार्टी के जिम जॉर्डन ने इस कार्यवाही की आलोचना करते हुए कहा कि डेमोक्रेट्स राष्ट्रपति को हटाने की कोशिश कर रहे हैं।

संवैधानिक विशेषज्ञ इस मसले पर बंटे

महाभियोग पर हाउस ऑफ रिप्रजेंटेटिव में सुनवाई हो चुकी है। यहां डेमोक्रेट बहुमत में हैं। लिहाजा प्रस्ताव साधारण बहुमत से पास होकर उच्च सदन यानी सीनेट में चला गया है। वहां रिपब्लिकन का बहुमत है और यहां दो तिहाई मत जरूरी होता है।

साल 2019 में ट्रम्प पर पहले महाभियोग में एक भी रिपब्लिकन ने इसके पक्ष में वोट नहीं दिया था। संवैधानिक विशेषज्ञ इस बात पर बंटे हुए हैं कि क्या राष्ट्रपति के पद छोड़ने के बाद भी महाभियोग चलाया जा सकता है या नहीं।

एक बार वाइस प्रेसिडेंट ट्रम्प को बचा चुके हैं

इससे पहले ट्रम्प को राष्ट्रपति पद से हटाने की कोशिश हो चुकी है। तब उपराष्ट्रपति माइक पेंस ने संविधान के 25वें संशोधन का इस्तेमाल करने से इनकार कर दिया था। इसके जरिए ट्रम्प को पद से हटाया जा सकता था।

ट्रम्प अगर हटते तो पेंस बाकी 7 दिन के लिए राष्ट्रपति बन सकते थे। हालांकि, उन्होंने ऐसा नहीं किया। अब महाभियोग पर जोर ज्यादा है।

अब तक तीन राष्ट्रपतियों पर महाभियोग

अब तक तीन अमेरिकी राष्ट्रपतियों पर महाभियोग चला है। ट्रम्प पहले राष्ट्रपति हैं, जिन पर दूसरी बार महाभियोग चलेगा। सबसे पहले 1868 में एंड्रयू जॉनसन, फिर 1998 में बिल क्लिंटन और 2019 में डोनाल्ड ट्रम्प पर महाभियोग चला।

1974 में वाटरगेट कांड के बाद रिचर्ड निक्सन ने इस्तीफा दे दिया था। उन पर महाभियोग चलना तय था। किसी भी राष्ट्रपति को अब तक इस प्रक्रिया से हटाया नहीं जा सका है। ट्रम्प के कार्यकाल में सिर्फ 6 दिन बाकी हैं। इस वजह से उन्हें हटाना भी मुश्किल है।


ताबिज से कोरोना को भगाने वाले मेक्सिको के राष्‍ट्रपति मैनुअल कोविड-19 से संक्रमित

ताबिज से कोरोना को भगाने वाले मेक्सिको के राष्‍ट्रपति मैनुअल कोविड-19 से संक्रमित

मेक्सिको के राष्‍ट्रपति आंद्रेस मैनुअल ओपेज ओब्रेडोर कोरोना वायरस से संक्रमित पाए गए हैं। उन्‍होंने रविवार को कहा कि उनकी कोरोना वायरस की जांच पॉजिटिव है। राष्‍ट्रपति ने कहा कि उन्‍होंने कोरोना के लक्ष्‍ण महसुस किया है, यह अभी शुरुआत चरण में है। आंद्रेस मैनुअल ने अपने आधिकारिक ट्विटर अकाउंट पर कहा है कि वह चिकित्‍सा उपचार के तहत हैं। गौरतलब है कि देश में कोराना महामारी के प्रसार के बाद राष्‍ट्रपति मैनुअल की काफी निंदा हुई थी। उन पर यह आरोप है कि वह देश में कोरोना महामारी के प्रसार को रोक पाने में अक्षम रहे हैं।

उन्‍होंने अपने ट्विटर अकाउंट पर कहा कि मुझे आपको यह बताते हुए खेद है कि मैं कोरोना वायरस से संक्रमित हूं। उन्‍होंने ट्वीट किया कि कोरोना के लक्ष्‍ण हल्‍के हैं, लेकिन मैं पहले से ही चिकित्‍सा उपचार के अधीन हूं। उन्‍होंने कहा कि मैं हमेशा की तरह आशावादी हूं, हम सभी आगे बढ़ेंगे। मेक्सिको में महामारी विज्ञान के निदेशक जोस लुइस अलोमिया जेग्रा ने कहा कि राष्‍ट्रपति में कोरोना वायरस के हल्‍के लक्ष्‍ण हैं। उन्‍हें घर में ही अलग रहने की सलाह दी गई है। उन्‍होंने बताया कि डॉक्‍टरों की एक पूरी टीम उनके इलाज में जुटी है।  घर पर ही उनकी देखभाल किया जा रहा है।

अमेरिका के पूर्व राष्‍ट्रपति डोनाल्‍ड ट्रंप की तरह मेक्सिको के 67 वर्षीय राष्‍ट्रपति मैनुअल भी कोरोना प्रोटोकॉल की उपेक्षा के कारण सुर्खियों में रहे। कोरोना महामारी के दौरान शायद ही राष्‍ट्रपति मैनुअलन को कभी मास्‍क पहने देखा गया हो। महामारी के दौरान भी उन्‍होंने अपनी यात्राओं एवं कार्यक्रमों को जारी रखा। इस बात को लेकर उनकी देश में काफी निंदा भी हुई थी। कोरोना के प्रसार को रोकने के लिए दुनिया के मुल्‍कों ने जब लॉकडाउन की प्रक्रिया शुरू की उस वक्‍त राष्‍ट्रपति मैनुअल ने इसका विरोध किया था। वह अर्थव्‍यस्‍था को बंद करने का भी विरोध किया। इस लापरवाही का नतीजा देश को भोगना पड़ा। मैक्सिको में अब तक कोरोना के 1.7 करोड़ लोग कोरोना से संक्र‍मित हो चुके हैं। वायरस से अब तक 1,50,000 लोगों की जान जा चुकी है।

देश में कोरोना महामारी चरम पर है। महामारी के दौरान राष्‍ट्रपति मैनुअल से पूछा गया कि वायरस से मेक्सिको की रक्षा कैसे करेंगे ? इस पर उन्‍होंने अपने बटुए से दो धार्मिक ताबीज को निकालते हुए कहा, इससे। इस ताबीज में लिखा था यीशु मेरे साथ हैं। उनके इस बयान की काफी निंदा की गई थी। विश्‍व स्‍वास्‍थ्‍य संगठन ने भी मेक्सिको में कोरोना वायरस के प्रसार पर गहरी चिंता प्रगट की थी। मेक्सिको के संदर्भ में डब्‍ल्‍यूएचओ के प्रमुख टेड्रोस अदनोम घेबियस राष्‍ट्रपति का नाम लिए बगैर कहा था कि कोरोना के प्रसार को रोकने के लिए हमने सामान्य तौर पर कहा है कि मास्क पहनना महत्वपूर्ण है, स्वच्छता महत्वपूर्ण है और शारीरिक दूरी महत्वपूर्ण है और हम नेताओं से इसके उदाहरण की उम्मीद करते हैं।


25 जनवरी 2021 का राशिफल: मकर राशि वालों के चल या अचल संपत्ति में वृद्धि होगी, लेकिन...       Share Market Tips: बजट से पहले भी बाजार में आ सकती है अच्छी खासी गिरावट       नई शिक्षा नीति पर अमल को सरकार दे सकती है अलग से फंड, शिक्षा मंत्रालय ने वित्त मंत्रालय को दिया है प्रस्ताव       Post Office के सुकन्या समृद्धि, आरडी और पीपीएफ खाते में ऑनलाइन जमा कर सकते हैं रुपये, जानें       Yes Bank के संस्थापक राणा कपूर को हाई कोर्ट से भी नहीं मिली जमानत       बैंक के नाम पर आने वाले फर्जी मैसेज की कैसे करें पहचान       गिर गई सोने की कीमतें, चांदी में आई उछाल, जानिए क्या हो गए हैं भाव       Home First Finance के IPO को मिला अच्छा-खासा समर्थन, बोली के आखिरी दिन तक हुआ 26.57 गुना सब्सक्राइब       इंग्लैंड ने भारत को छोड़ा पीछे, टेस्ट सीरीज में श्रीलंका का क्लीन स्वीप कर बनाया ये रिकॉर्ड       पाकिस्तान के पूर्व बल्लेबाजी कोच ने की रिषभ पंत की तारीफ, कही...       ऑस्ट्रेलिया के इस दिग्गज तेज गेंदबाज पर टीम से बाहर होने का खतरा       IPL की वजह से हुआ बदलाव, ICC ने वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप फाइनल किया स्थगित       भारतीय स्पिनर का खुलासा, ऑस्ट्रेलिया दौरे पर हुआ भेदभाव, नहीं थी उनके साथ लिस्ट में जाने की अनुमति       गणतंत्र दिवस के मौक़े पर आयी फ़िल्मों ने जब बॉक्स ऑफ़िस पर भी मचाया धमाल       The Family Man के मेकर्स के साथ ओटीटी डेब्यू के लिए तैयार शाहिद कपूर       शेखर कपूर ने कहा कि फूलन ने बैंडिट क्वीन देखकर कहा था कि मुझे लगा फिल्म में गाने होंगे       इस एक्टर की दुल्हनियां बनी नताशा दलाल, अब इस दिन होगा वरुण नताशा का ग्रैंड रिसेप्शन       Republic Day 2021: देशभक्ति से जुड़े ये गाने आपकी भी आंखें कर देंगे नम       शादी के बाद वरुण धवन ने शेयर कीं अपनी हल्दी सेरेमनी की फोटोज़, देखें एक्टर का कूल अंदाज़       Republic Day पर लौट रही है विक्की कौशल की 'उरी- द सर्जिकल स्ट्राइक', सिनेमाघरों में फिर गूंजेगा Hows The Josh