एसिडिटी की समस्या को दूर करने के लिए अपनाए ये उपचार

एसिडिटी की समस्या को दूर करने के लिए अपनाए ये उपचार

हाइपर एसिडिटी की समस्या ठीक जीवनशैली को न अपनाने व गलत खानपान की वजह से होती है. आइए जानते हैं इसके बारे में.

वजह: तली हुई, मसालेदार, नमक या खटाई युक्त चीजें, अचार, कोल्डड्रिंक, शराब, तंबाकू का सेवन, कम भोजन या असमय भोजन, व्यायाम या शारीरिक श्रम न करना एसिडिटी की प्रमुख वजह हैं.

ये खाएं: यह कठिनाई होने पर भोजन में जौ, गेहूं, लौकी, कद्दू, परवल, सफेद पेठा, पके केले, पपीता, आंवला, अनार, गौ माता का घी व दूध, शहद, चीनी आदि लें. पर्याप्त नींद लें व कार्य करने के बीच में थोड़ा-थोड़ा आराम करें. बेवजह क्रोध और चिंता न करें व तनाव कम करने के लिए योगा करें.

उपाय: एसिडिटी होने पर दिन में चार बार थोड़ा-थोड़ा भोजन करें व खाने के बाद थोड़ी देर तक धीरे-धीरे टहलें. नियमित रूप से हल्का व्यायाम करें. मानसिक तनाव कम करने के लिए ध्यान, भ्रामरी प्राणायाम व योगासनों में पवनमुक्तासन, शवासन, भुजंगासन, वज्रासन, नौकासन, सूर्य नमस्कार और सिद्धासन करें.

औषधियां: पित्तशेखर रस, अल्सरेक्स, अम्लपित्तांतक योग, शुक्तीन, एसीडीनॉल आदि भी इस समस्या के इलाज में उपयोगी है. लेकिन इन औषधियों को वैद्य की सलाह से ही लें.