दिनभर में बहुत ज्यादा है सिर्फ 5 ग्राम नमक, इससे ज्यादा खाने पर जा सकती हैं आपकी जान

दिनभर में बहुत ज्यादा है सिर्फ 5 ग्राम नमक, इससे ज्यादा खाने पर जा सकती हैं आपकी जान

बगैर नमक खाने में स्वाद की कल्पना नहीं की जा सकती है। कोई भी खाना चाहे कितने ही मसाले डालकर बनाया गया हो, लेकिन यदि उसमें नमक ना हो तो वह खाना बेस्वाद हो जाता है। वैसे शरीर में आयोडीन (Iodine) की पूर्ति के लिए नमक खाना (Salt Intake) महत्वपूर्ण भी है, लेकिन यदि शरीर में ज्यादा नमक हो जाए तो इससे कई बीमारियां होने लगती हैं।   हिंदुस्तान में अधिकांश लोग एक ही दिन में 10 ग्राम से भी ज्यादा नमक खाते हैं, जो कि नुकसानदायक है।   आइए जानते हैं कि ज्यादा नमक खाने से क्या नुकसान हो सकते हैं -

ब्लड प्रेशर का अनियंत्रित होना आंखों के आगे अंधेरा छाना, चक्कर आने जैसी समस्या होने पर लोग नमक खाने की सलाह देते हैं। लेकिन ब्लड प्रेशर बढ़ने पर नमक नहीं खाना चाहिए, क्योंकि नमक के अधिक सेवन से हाई ब्लड प्रेशर की समस्या बढ़ सकती है।   myUpchar से जुड़े डाक्टर लक्ष्मीदत्ता शुक्ला के अनुसार, नमक की मात्रा अधिक होने पर हार्ट अटैक, स्ट्रोक जैसी बीमारियां भी होने की संभावना होती है।

स्ट्रोक होने की आशंका

ज्यादा नमक खाने पर स्ट्रोक का खतरा बढ़ जाता है।   मस्तिष्क के नसों में ब्लॉकेज होने पर स्ट्रोक होता है, लेकिन खाने में नमक की मात्रा कम होने पर यह खतरा कम हो जाता है।   अधिकतर लोगों में यह गलतफहमी है कि आयु बढ़ने के साथ-साथ स्ट्रोक होने का खतरा बढ़ता है, लेकिन ऐसा नहीं है। यदि नियमित व संतुलित खानपान लिया जाए तो ऐसे किसी भी खतरे की संभावना नहीं होती है।   इसका कारण है हमारे अनियमित खान-पान का प्रभाव शरीर पर धीरे-धीरे होता है, इसलिए ज्यादा आयु होने पर यह समस्याएं खड़ी हो जाती हैं।

कोरोनरी हार्ट डिसीज की आशंका

कोरोनरी हार्ड डिसीज में नसें मोटी व डैमेज हो जाती हैं। इन डैमेज नसों से खून दिल तक बहुत ज्यादा कम मात्रा में पहुंचता है, जिसके कारण हार्ट अटैक होने का खतरा बढ़ता है।   खाने में नमक कम लेने पर इस बीमारी की संभावना कम हो जाती है।   चूंकि ज्यादा नमक खाने से शरीर में ब्लड प्रेशर भी प्रभावित होता है।   इसलिए भी दिल पर खतरा बना रहता है।

पेट के कैंसर का खतरा

ज्यादा नमक खाने पर पेट का कैंसर भी होने कि सम्भावना है।   नमक में एक प्रकार का हेलीकोबैक्टर पिलोरी नामक बैक्टीरिया होता है, जो पेट की सूजन को बढ़ाता है।   यदि इस बैक्टीरिया की मात्रा पेट में बढ़ती है तो इससे पेट में अल्सर व कैंसर की बीमारियों का खतरा होने की संभावना बढ़ जाती है।

किडनी में पथरी की समस्या

myUpchar से जुड़े डाक्टर लक्ष्मीदत्ता शुक्ला के अनुसार,  किडनी में खराबी का कारण शरीर में सोडियम की अधिक मात्रा का होना है।   नमक ज्यादा खाने से किडनी में पथरी होने का खतरा बढ़ सकता है, क्योंकि नमक में सोडियम की अधिक मात्रा होती है।   नमक का संतुलित सेवन ही फायदेमंद होता है।

ऑस्टियोपोरोसिस बीमारी का खतरा

ओस्टियोपोरोसिस बीमारी में हड्डियों में कैल्शियम की मात्रा कम हो जाती है।   इसमें यूरिन के जरिए कैल्शियम गलकर निकल जाता है।   खाने में ज्यादा नमक के सेवन से हड्डियों की कैल्शियम की मात्रा कम हो जाती है व नमक की अधिक मात्रा हड्डियों को निर्बल बनाती है, जिन्हें अधिक नमक खाने की आदत है तो उन्हें यह आदत छोड़नी चाहिए।