मुनक्का गले की खराश, सर्दी-जुकाम, खून साफ और कई अन्य बीमारियों में होती लाभकारी

मुनक्का गले की खराश, सर्दी-जुकाम, खून साफ और कई अन्य बीमारियों में होती लाभकारी

खून साफ करता है-
रात को सोते समय लगभग 10-12 मुनक्के धोकर पानी में भिगो दें. इसके बाद प्रातः काल उठकर मुनक्के के बीजों को निकालकर अच्छी तरह से चबाकर खाएं. इससे न केवल खून बढ़ता है बल्कि साफ भी होता है, जिससे एलर्जी, फोड़े-फुंसी नहीं होते व नकसीर में सुधार होता है.

गले में खराश-
जिन लोगों के गले में लगातार खराश रहती है या नजले से गले में तकलीफ रहती है, उन्हें सुबह-शाम चार-पांच मुनक्के खाने चाहिए, लेकिन इसे खाने के बाद पानी न पीएं.

बिस्तर गीला करना -
जो बच्चे रात में बिस्तर गीला करते हों, उन्हें दो मुनक्के बीज निकालकर रात को प्रतिदिन सप्ताह भर खिलाएं.

सर्दी-जुकाम में-
सर्दी-जुकाम होने पर कुछ मुनक्के रात में सोने से पहले बिना बीज दूध में उबालकर लें. यदि सर्दी-जुकाम पुराना हो गया हो तो हफ्ते भर तक लें. मुनक्के में आयरन की मात्रा अधिक होती है जिससे शरीर में हीमोग्लोबिन की मात्रा बढ़ती है व स्किन ग्लो करती है.