कब्ज से राहत पाने लिए रोज खाएं 100 ग्राम चना, मिलेगा आराम

कब्ज से राहत पाने लिए रोज खाएं 100 ग्राम चना, मिलेगा आराम

Constipation Relief In Hindi: आज के समय में बेकार जीवन स्टाइल, नशे की लत व फिजिकल अभ्यास की कमी के कारण दुनियाभर की एक चौथाई आबादी कब्ज यानि कॉन्सटिपेशन की समस्या से परेशान है. विशेषज्ञों की माने तो अब पहले की तुलना में खानपान बदल गया है, फास्ट फूड व ज्यादा तला, भुना मसालेदार खाने से पेट में उपस्थित अच्छे किटाणु मर जाते हैं व कब्ज होती है. साथ ही अन्य समस्याएं भी हैं जिनको नजरअंदाज करने से यह कठिनाई होती है. लेकिन आप चाहे तो ये 5 ढंग अपनाकर कब्ज से राहत पा सकते हैं. आइए जानते हैं उनके बारे में:-

1. हर घंटे में पीएं एक गिलास पानी
अपच/कब्ज की समस्या है तो ज्यादा पानी पीएं. हर एक घंटे में एक गिलास पानी अवश्य पीएं. अगर आपका वजन ज्यादा नहीं है तो मिश्री व सौंफ मिलाकर लें. इससे जल्द डकार आती है व स्वाद अच्छा रहता है. पानी में नमक, चीनी व भुना जीरा मिलाकर लेना भी अच्छा रहता है. पीपली, नमक को नींबू पर लगाकर चूसने से भी कब्ज में आराम मिलता है. भुनी हुई अजवायन को सेंधा नमक के साथ मिलाकर लेने से पाचन संबंधी समस्या में आराम मिलता है.

2. प्रातः काल उठते ही पीएं दो गिलास पानी
सुुबह उठने के बाद समय से फ्रेश होने जाएं. इसको टालते हैं तो इससे धीरे-धीरे कब्ज होने लगती है. इससे बचने के लिए प्रातः काल उठते ही 2-3 गिलास पानी पीएं. इससे बड़ी आंत पर दबाव पड़ेगा व पेट सरलता से साफ होगा. अगर पानी गुनगुना हो तो ज्यादा अच्छा रहता है. जब भी महसूस होता है कि फ्रेश होना है तो उस समय दूसरा कार्य न करें क्योंकि तब आंतें अधिक सक्रिय रहती हैं.

3. भरपूर मात्रा में ले फायबर डाइट
पेट के लिए फायबर डाइट बहुत महत्वपूर्ण है. यह आंतों का संकुचन करने में सहायक होती है. इसके लिए जौ, चना व गेंहू की रोटी खाएं. चोकर व बेजड़ की रोटियां ही खाएं. रिफाइंड या मैदे की रोटी न खाएं. हरी पत्तेदार सब्जियों में भी फायबर ज्यादा होता है. फलों का छिलका हटाकर न खाएं. छिलका हटाने से फायबर की मात्रा कम हो जाती है. फायबर युक्त दलिया नाश्ते में जरूर शामिल करें.

4. 100 ग्राम चना रोज खाएं
चना पेट के लिए बहुत अच्छा होता है. गर्मी में इसको भूनकर या सत्तु बनाकर लेना चाहिए. अपच में भी इसको ले सकते हैं. 100 ग्राम चना प्रतिदिन खाना चाहिए. इसमें भरपूर मात्रा में प्रोटीन व कैलोरी होती है. इससे शरीर को पर्याप्त मात्रा में ऊर्जा भी मिलती है. इससे कब्ज में भी तत्काल आराम मिलता है.

5. 8 घंटे की नींद जरूरी
कब्ज से बचने के लिए अच्छी नींद महत्वपूर्ण है. प्रतिदिन कम से कम 8 घंटे की नींद समय से लें. प्रातः काल जल्दी उठें. देरी से उठने परे व्यायाम नहीं हो पाता है. इससे भी कब्ज होती है. तनाव से भी कब्ज होता है. इसलिए ऐसा कार्य करें जिससे तनाव न हो. अगर नशा करते हैं तो तत्काल छोड़ दें. इससे भी हाजमा बिगड़ता है.