राजमा खाने से बढ़ता नहीं बल्कि कम होता है फैट, फायदे ऐसे कि हैरान हो जाएंगे आप

राजमा खाने से बढ़ता नहीं बल्कि कम होता है फैट, फायदे ऐसे कि हैरान हो जाएंगे आप

अगर आप भी उन लोगों की लिस्ट में शामिल हैं जो अपने बढ़ते वजन की वजह से राजमा खाने से परहेज करते हैं तो यह समाचार आपके लिए ही है. आपने अक्सर कई लोगों को थाली से राजमा सिर्फ इसलिए हटाते देखा होगा क्योंकि उन्हें लगता है राजमा खाने से उनका वजन बढ़ जाएगा. लेकिन इस समाचार को पढ़ने के बाद राजमा के शौकीन लोग इसे खाने के लिए किसी बहाने का इंतजार नहीं करेंगे. 

भारत में राजमा तो मैक्सिकन सिटी में टैकोज नाम से फेमस राजमा को अंग्रेजी में किडनी बीन्स के नाम से भी जाना जाता है. राजमा प्रोटीन का एक अच्छा स्रोत है. राजमा खाने से न सिर्फ वजन घटाने में मदद मिलती है बल्कि डायबिटीज जैसे रोग से भी बचाव होता है. लड़कियों की हर छोटी बड़ी परेशानियों को फोकस में रखकर 

राजमा खाने से होते हैं ये फायदे- 

1-वजन घटाने में मिलती है मदद-
राजमा में उपस्थित फाइबर की वजह से पेट देर तक भरा महसूस करवाता है. जिसकी वजह से आदमी को लंबे समय तक भूख नहीं लगती है. इसके अतिरिक्त राजमा के लो फैट होने की वजह से इसका सेवन करने पर शरीर में देर तक ऊर्जा बनी रहती है. 

यदि आपकी कमर के आसपास चर्बी ज्यादा है, तो राजमा आपकी कठिनाई दूसर करने में आपकी मदद कर सकती है. हाल ही में एक अध्ययन में यह पाया गया है कि किसी भी प्रकार की बीन्स सप्ताह में 4 बार खाने से आदमी का वजन कम होता है.

2- डायबिटीज करता है कंट्रोल-
राजमा में कम मात्रा में ग्लाइसेमिक इंडेक्स होता है. मधुमेह के रोगी यदि इसका सेवन करते हैं तो उनके शरीर में ब्लड ग्लूकोज का लेवल नहीं बढ़ता है. राजमा में अच्छी क्वालिटी का कार्बोहाइड्रेट व लीन प्रोटीन होने के साथ इंसुलिन स्तर को नियमित करने वाले दो अमिनो एसिड्स आर्जिनाइन व ल्यूसाइन भी पाए जाते हैं.

3-इम्यून सिस्टम बनता है मजबूत-
राजमा में फाइबर व प्रोटीन के साथ अच्छी मात्रा में एंटीऑक्सीडेंट्स गुण भी पाए जाते हैं. ये एंटीऑक्सीडेंट्स गुण आदमी के इम्यून सिस्टम को बेहतर बनाने में मदद करते हैं व उसे फ्री रेडिकल्स से मुक्त रखते हैं. जिसकी वजह से एंटी-एजिंग इफेक्ट जल्दी चेहरे पर नजर नहीं आता है. 

4-दिमागी स्वास्थ्य को रखता है दुरूस्त-
राजमा में उपस्थित विटामिन 'के' नर्वस सिस्टम को बूस्ट करने का कार्य करता है. राजमा विटामिन 'बी' का भी अच्छा स्त्रोत माना जाता है, जोकि मस्तिष्क की कोशिकाओं के लिए बहुत महत्वपूर्ण है. 

5-खनिजों का अच्छा स्रोत-
राजमा में आयरन, तांबा, फोलेट, मैंगनीज, पोटेशियम व विटामिन K1 की अच्छी मात्रा पाई जाती है. शरीर में आयरन की कमी से कई रोग उत्पन्न हो सकत हैं राजमा में उपस्थित आयरन उन्हें आपसे दूर रखने में आपकी मदद करता है. जबकि इसमें उपस्थित विटामिन K1 शरीर में उपस्थित खून को जमने से भी रोकने में मदद करता है.