Newborn Care: पहली बार बने हैं मां-बाप, तो भूल कर भी न करें ये 5 ग़लतियां

Newborn Care: पहली बार बने हैं मां-बाप, तो भूल कर भी न करें ये 5 ग़लतियां

नई दिल्ली। Newborn Care: नवजात शिशु देखभाल सप्ताह को हर साल 15 नवंबर से 21 नवंबर तक मनाया जाता है। ये हफ्ता पूरी तरह से एक शिशु के अस्तित्व और विकास के प्रति महत्व के बारे में जागरूकता बढ़ाने को समर्पित है। शिशु के पहले 28 दिन, उसके अस्तित्व के लिए महत्वपूर्ण होते हैं और यह बच्चे के विकास की नींव रखते हैं।

एक डाटा के अनुसार, हज़ार में से करीब 25 बच्चों की जान जन्म से 28 दिनों के बीच ही चली जाती है और इसलिए नवजात शिशु की देखभाल के प्रति जागरूकता फैलाना बेहत ज़रूरी है। आइए जानें उन गलतियों के बारे में जो आमतौर पर मां-बाप कर बैठते हैं। 

ज़रूरत से ज़्यादा ख़्याल रखना

अपने बच्चे को लेकर चिंता करना प्राकृतिक है, हालांकि इस दौरान एक ऐसी ग़लती जो ज़्यादातर मां-बाप करते हैं, वो है ज़रूरत से ज़्यादा ख़्याल रखना। बच्चे की सेहत और सुरक्षा को लेकर मां-बाप ज़रूरत से ज़्यादा ख़्याल रखने लगते हैं। इसमें कोई शक़ नहीं कि शिशु को 24 घंटे ध्यान रखने की ज़रूरत होती है, लेकिन डॉक्टरों का मानना है कि ज़रूरत से ज़्यादा ध्यान रखना उनके लिए हानिकारक भी हो सकता है।

बच्चे के लिए क्रिब खरीदें

बच्चे के लिए क्रिब यानी पालना न खरीदना मां-बाप की सबसे बड़ी ग़लती हो सकती है। डॉक्टरों की सलाह है कि शिशुओं के लिए हमेशा पालने का इस्तेमाल करना चाहिए, क्योंकि मां-बाप के साथ एक ही बिस्तर पर सोने से अचानक शिशु के मौत सिंड्रोम यानी SIDS होने का ख़तरा रहता है। 

बच्चे को रोने न देना

डॉक्टरों और स्वास्थ्य विशेषज्ञों के अनुसार, रोना बच्चे के विकास का एक महत्वपूर्ण हिस्सा है। वे कहते हैं कि एक बच्चा पूरी तरह से ठीक होने के बावजूद भी रो सकता है और जो पहली बार माता-पिता बनते हैं वे शायद इस बारे में ज्यादा नही सोचते।

पूरा आराम और अच्छी नींद लें

एक नवजात शिशु दिन में लगभग 18-20 घंटे सोता है, हालांकि, वे दिन में कई बार कुछ घंटों के लिए सोते हैं, जिससे मां-बाप को मुश्किलें आती हैं। पहली बार बनें माता-पिता के लिए, डॉक्टरों का सुझाव है कि जब उनका बच्चा सो रहा हो तो, वे भी उसी समय उचित रूप से आराम और अच्छी नीद लें ताकि तरोताज़ा महसूस करें और हर वक्त थकावट न महसूस करें।

खाने के बाद बच्चे को डकार दिलवाना

बच्चे को खिलाने के बाद उसे डकार न दिलवाना शायद पहली बार मां-बाप बने कप्ल्स द्वारा की जाने वाली सामान्य गलतियों में से एक। डॉक्टरों का सुझाव है कि माता-पिता को इसको लेकर घबराना नहीं चाहिए और अपने बच्चे को हर फीड के बाद डकार दिलवानी चाहिए, क्योंकि इससे उन्हें काफी मदद मिलती है।

बुख़ार को अनदेखा न करें

कई मां-बाप बुख़ार को अनदेखा कर देते हैं, उन्हें लगता है कि बच्चे का इतना गर्म होना स्वभाविक है। हालांकि, उन्हें पता होना चाहिए कि शिशु और छोटे बच्चों में 97.52F का तापमान सामान्य माना जाता है। शरीर का तापमान इससे ज़्यादा होता है तो इसे किसी भी हालत में अनदेखा नहीं करना चाहिए। बुख़ार आना किसी गंभीर बीमारी का लक्षण भी हो सकता है।

बच्चे को कभी भी शहद न दें

कई जगहों पर ऐसी परंपरा है, जहां नवजात शिशुओं को शहद खिलाया जाता है। हालांकि, बच्चों को शहद खिलाने से बचना चाहिए, क्योंकि शहद में बैक्टीरियल स्पोर्स होते हैं, जो पेट में संक्रमण के लिए ज़िम्मेदार होते हैं।


विटामिन-सी से भरपूर आंवला आपके स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद, जाने अनेक फायदे

विटामिन-सी से भरपूर आंवला आपके स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद, जाने अनेक फायदे

विटामिन-सी से भरपूर आंवला, प्रत्येक मौसम में फायदेमंद होता है। यह आंखों, बालों और त्वचा के लिए तो लाभकारी है ही, साथ ही इसके और भी कई फायदे हैं, जो आपके शरीर को सेहतमंद बनाए रखने में मदद करते हैं।

आमतौर पर आंवले का इस्तेमाल अचार, मुरब्बा या चटनी के रूप में किया जाता है, किन्तु इसका अलग-अलग तरह से सेवन आपके लिए बेहद फायदेमंद है। यदि आप नहीं जानते इस अनमोल फल के बारे में तो अवश्य पढ़ि‍ए -

1 डायबिटीज के मरीजों के लिए आंवला बहुत फायदेमंद चीज है। पीड़ि‍त व्यक्ति अगर आंवले के रस का प्रतिदिन शहद के साथ सेवन करे तो बीमारी में आराम मिलता है।

2 एसिडिटी की तकलीफ होने पर आंवला बेहद फायदेमंद होता है। आंवला का पाउडर, चीनी के साथ मिलाकर खाने या पानी में डालकर पीने से एसिडिटी में राहत मिलती है। इसके अलावा आंवले का जूस पीने से पेट की सारी समस्याओं से छुटकारा मि‍लता है।

3 पथरी की दिक्कत में भी आंवला असरदार उपाय साबित होता है। पथरी होने पर 40 दिन तक आंवले को सुखाकर उसका पाउडर बना लें, और उस पाउडर को हर दिन मूली के रस में मिलाकर खाएं। इस उपाय से कुछ ही दिनों में पथरी गल जाएगी।

4 खून में हीमोग्लोबिन की कमी होने पर, रोज़ाना आंवले के रस का सेवन करना काफी फायदेमंद होता है। यह शरीर में लाल रक्त कोशिकाओं के निर्माण में मददगार होता है, और खून की कमी नहीं होने देता।

5 आंखों के लिए आंवला अमृत समान माना गया है, यह आंखों की रौशनी को बढ़ाने में सहायक होता है। इसके लिए हर दिन एक चम्मच आंवला के पाउडर को शहद के साथ लेने से लाभ मिलता है और मोतियाबिंद की बीमारी भी खत्म हो जाती है।


दाग-धब्बों को आसानी से छुपाने के लिए ऐसे करे कंसीलर के सही इस्तेमाल       दुल्हन शादी की एक्साइटमेंट में करने से बचें मेकअप से जुड़ी यह बड़ी गलतियां       इस फिल्म में इस एक्टर के साथ कैटरीना और शिल्पा शेट्टी भी होंगी?       सर्दियों में शहद के सेवन से आपके स्वास्थ्य को हो सकते है यह बड़े नुकसान        मार्केट जैसी टेस्टी चॉकलेट कुकीज बनाने के लिए जाने यह खास रेसिपी       इन घरेलू तरीकों की मदद से पाए ड्राय स्किन की समस्या से निजात       सर्दियों में घर पर इन तरीको से बनाए चटपटे टेस्टी गोलगप्पे       खांसी की समस्या से निजात पाने के लिए जाने यह सरल घरेलू नुस्खे       आर्थराइटिस की समस्या से निजात पाने के लिए जाने यह होम्योपैथिक उपचार       सर्दियों में टेलीकॉम रेगुलेटरी अथॉरिटी ऑफ़ इंडिया से करे यह टेस्टी आटे के हलवे की रेसिपी       वर्ष 2021 में स्‍टाइलिश दिखने के लिए अपने लाइफस्टाइल में करे यह बड़े परिवर्तन       अजय देवगन की 16 साल पुरानी फिल्म 'नाम' होगी रिलीज       विटामिन-सी से भरपूर आंवला आपके स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद, जाने अनेक फायदे       केसर के सेवन से आपको मिलेगा स्वास्थ्य से जुड़ी इन समस्याओं से छुटकारा       यहां जानिए, बेलपत्र से होने वाले यह स्वास्थ्य लाभ?       OMG! इस एक्ट्रेस की रफ्तार ने उड़ाई बॉलीवुड एक्ट्रेस की नींद       सलमान खान की इस फिल्म का बनेगा सीक्वल       सर्दियों इस घरेलू उपाय द्वारा पाए सर्दी-जुकाम से छुटकारा       मूंग की दाल खाने से हमारे स्वास्थ्य को होते है यह बड़े - बड़े फायदे       ‘भाग बीनी भाग’ बहुत ही चार्मिंग शो है: स्वरा भास्कर