कपिंग थेरेपी शरीर को अंदर व बाहर से बनाती है खूबसूरत

कपिंग थेरेपी शरीर को अंदर व बाहर से बनाती है खूबसूरत

लाइफस्टाइल डेस्क। शरीर को आराम पहुंचाने के लिए कपिंग थेरेपी एक अच्छा तरीका है. ये एक चायनीज़ थेरेपी है जिसमें कप में वेक्यूम बनाकर शरीर पर कुछ समय तक लगाया जा सकता है. इस थेरेपी से कई सारे उपचार किए जाते हैं. आइए जानते हैं इस थेरेपी के बारे में…

कई तरह से की जाती है कपिंग

फायर कपिंग:इस तरह की थेरेपी के लिए एक रुई के गोले में शराब डालकर उसमें आग लगाई जाती है. इसके बाद कप के अंदर इस आग का धुंआ डालकर कप को पीठ व कंधे में लगाया जाता है. धुंए के दवाब के कारण कप के अंदर शरीर की स्किन कप के अंदर खिंच जाती है. इस थेरेपी को अधिकांश स्किन से जुड़ी समस्याओं के हल के लिए लिया जाता है.

ड्राय कपिंग:इस कपिंग में खाली कप को स्किन पर ऐसी तकनीक से रखा जाता है कि कप के अंदर वेक्यूम पैदा हो जाता है. इस प्रक्रिया से शरीर का गंदा खून कप के जगह पर इकट्‌ठा हो जाता है जिसे एक चीरा लगाकर निकाल दिया जाता है. इससे शरीर का अशुद्ध खून निकल जाता है.

वेट कपिंग:कुछ खास तेलों में कप को डुबाकर स्किन के कुछ एक्यूप्रेशर बिंदुओं पर रखा जाता है. स्किन में खिचांव आने के कारण मसल्स का दर्द भी धीरे-धीरे कम हो जाता है. इसके अतिरिक्त ये थेरेपी शरीर को सुकून भी देती है.

कई तरह से है फायदेमंद

ब्लड सर्कुलेशन- इस थेरेपी से शरीर के खून का संचार अच्छा होता है. जिन स्थानों पर कपिंग की जाती है उन स्थानों की मसल्स में बहुत ज्यादा राहत भी मिलती है

स्किन को खूबसूरत बनाती है:कपिंग थेरेपी स्किन को बहुत ज्यादा लाभ पहुंचाती है. इससे एक्ने व पिंपल की समस्या भी दूर की जाती है. साथ ही ब्लड सर्कुलेशन अच्छा होने के कारण स्किन में ग्लो भी आता है.

शरीर का डिटोक्सीफिकेशन- शरीर के अंदर कई तरह की गंदगी इकट्‌ठी हो जाती है. इस थेरेपी से अशुद्ध रक्त को निकालकर शरीर को डिटोक्सीफाई किया जाता है.

एंटी एजिंग के लिए कारगर:थेरेपी से अंदरूनी सफाई होती है जो कि एक बेहतरीन एंटी एजिंग के लिए बहुत ज्यादा लाभकारी है. इस थेरेपी से स्किन को रिपेयर भी किया जाता है. लगातार इस थेरेपी को लेने से स्किन बहुत ज्यादा टाइट व खूबसूरत हो जाती है.

तनाव दूर करती है थेरेपी:इस थेरेपी से शरीर तनाव मुक्त होता है. प्रोफेशनल कपिंग के सेशन में सारे शरीर में कपिंग व मसाज मसल्स के साथ आपके दिमाग को भी राहत भी पहुंचाती है.

इस बात का रखें खास ख्याल

कपिंग करवाने से पहले ये निर्धारित कर लें कि आप जिनसे ये थेरेपी ले रहे हैं वो प्रोफेशनल हैं या नहीं. इस थेरेपी को करने के लिए कई बार शरीर के कुछ एक्यूप्रेशर पॉइन्ट्स का ठीक ज्ञान होना चाहिए. किसी लापरवाह या अनप्रोफेशनल से करवाना आपके लिए ज्यादा भयावह व बेअसर होने कि सम्भावना है. फायर थेरेपी को यदि किसी प्रोफेशलन से ना करवाया गया तो आपकी स्किन भी जल सकती है. साथ ही किसी ऐसे आदमी से ही थेरेपी लें जिसे इसके निर्धारित समय की समझ हो.