हमेशा जवान बने रहने के लिए डाइट में शामिल करें कद्दू

हमेशा जवान बने रहने के लिए डाइट में शामिल करें कद्दू

आज हर किसी को अपनी जवानी पसन्द है। लेकिन लड़की या महिला लम्बे समय तक जवान बने रहना चाहती है। और इसके लिए वो बहुत सारे तरीको को अपनाती है और बहुत सारे ब्यूटी प्रोडक्ट्स का भी इस्तेमाल करती है पर कोई फयदा नहीं हो पाता है और चेहरे पर उम्र के निशान आ ही जाते है।

जवान बनाये रखती है ये चीजें:

# चुकंदर में भरपूर मात्रा में बीटाकैनिन नामक एंटी-ऑक्सीडेंट मौजूद होता है जो बॉडी में ब्लड को साफ़ बनाने का काम करता है।  इसके अलावा चुकंदर हमारी बॉडी की इम्मयूनिटी पावर को बढ़ाने का काम करता है।

# मशरूम में प्रोटीन की भरपूर मात्रा मौजूद होती है और इसके अलावा मशरूम में भरपूर मात्रा में विटामिन-ई के साथ ही सेलेनियम भी मौजूद होता है जो दिल को बीमार होने से बचाने के साथ साथ स्किन को भी स्वस्थ बनाए रखता है।

# कद्दू में भरपूर मात्रा में बीटा कैरोटीन, विटामिन ए, सी और ई मौजूद होते है जो चेहरे पर झुर्रियों को आने से रोकते है और स्किन को जवां बनाए रखता है।

# काबुली चने में भरपूर मात्रा में प्रोटीन्स पाए जाते है जो हमारे दिल के स्वास्थ्य के लिए बहुत फायदेमंद होते है। इसके अलावा काबुली चने का सेवन स्किन और बालों के लिए भी बहुत फायदेमंद होता है। 


लौंग के ज्यादा सेवन से भी हो सकती है एलर्जी

लौंग के ज्यादा सेवन से भी हो सकती है एलर्जी

शरीर की कई बिमारियों का इलाज तो हमारे किचन में ही रहता है बस थोड़ा ध्यान देने की जरूरत होती है। लौंग बहुत आम मसाला हैं जिसका आम तौर पर खाना पकाने के लिए उपयोग किया जाता है। परंपरागत रूप से कई बीमारियों के उपचार के लिए उपयोग किया जाता है। लेकिन ज्यादा लौंग भी कुछ मामलों में हानिकारक हो सकती है।

ज्यादा लौंग खाने के नुकशान:

अगर ब्लड शुगर सामान्य स्तर से नीचे हैं, तो आपको जल्दी से लौंग के इस्तेमाल को कम करना होगा इस स्वास्थ्य की स्थिति में लौंग खाना बहुत खतरनाक है। लौंग खून में ग्लूकोज के स्तर को कम करता है।

# लौंग का ज्यादा इस्तेमाल करने से एलर्जी हो सकती है। लौंग में यूजेनॉल होता है और यह केमिकल एलर्जी का सबसे महत्वपूर्ण कारण है। लौंग की अत्यधिक मात्रा में सेवन से चकत्ते, सूजन, और पित्ती हो जाते हैं।

# लौंग का बहुत अधिक मात्रा में सेवन करने से लंबे समय तक खून बह सकता है। लौंग खून को पतला कर देता है इस वजह से ब्लीडिंग हो सकती है।