अगर घबराहट से बढ़ जाती है हार्ट बीट, तो करें राई का सेवन

अगर घबराहट से बढ़ जाती है हार्ट बीट, तो करें राई का सेवन

राई हमारे स्वास्थ्य के लिए बहुत फायदेमंद है। अचार या सब्जी बनाने में राई का प्रयोग स्वाद बढ़ाने के साथ इनकी गुणवत्ता भी बढ़ाता है। राई के ये छोटे-छोटे दाने कई तरह सेहत से जुड़ी समस्याओं में कारगर होते हैं।

राई है स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद:

सामान्य धड़कनें: हृदय की धड़कनें असामान्य हो रही हैं या घबराहट के साथ बेचैनी और कंपन महसूस कर रहे हैं, तो राई को पीसकर अपने हाथों और पैरों पर मलें।

राई को पीसकर उसमें थोड़ा कर्पूर मिलाकर जोड़ों पर मालिश करने से आर्थराइटिस और जोड़दर्द में फायदा होता है।

कान में दर्द होने पर राई के तेल को गर्म कर दो से तीन बूंद कान में डालने पर दर्द में आराम होता है।

धूम्रपान से होंठ काले हो गए हैं, तो अकरकरा और राई को समान मात्रा पीसकर दिन में तीन चार बार लगाएं।

राई को बारीक पीसकर दर्द वाले हिस्से पर लगाने से आधे सिर का दर्द या माइग्रेन में तुरंत आराम मिलता है।

राई में मौजूद खास तत्त्व त्वचा संबंधी रोगों के लिए फायदेमंद है। इसके लिए राई को रातभर पानी में भिगोएं।  सुबह इस पानी को त्वचा पर लगाने से लाभ होगा।  

बुखार के साथ कई बार जीभ पर सफेद परत जम जाती है और भूख व प्यास कम हो जाती है। ऐसे में सुबह के समय 4-5 ग्राम राई के चूर्ण को शहद के साथ लें।


वास्तु दोष के कारण भी बढ़ सकती है आर्थिक तंगी

वास्तु दोष के कारण भी बढ़ सकती है आर्थिक तंगी

कई बार पैसो की कमी और अपनी कमी न खत्म होने वाली जरूरतों की वजह से कई बार व्यक्तियों को कर्ज लेने की स्थिति बन जाती है, और कई बार तो कर्ज के कारण स्थिति इतनी गंभीर हो जाती है कि व्यक्ति अपने जीवन का अंत भी कर डालता है, लेकिन क्या आपने कभी ये सोचा है की इसका एक कारण वास्तु दोष भी हो सकता है। 

आर्थिक तंगी के कारण:

# अपने नए घर का निर्माण करते समय इस बात का हमेशा ध्यान रखना चाहिए घर की दीवारे बिलकुल सीधी और सपाट हो, खासकर उत्तर व दक्षिण की दीवारों में तो बिलकुल भी झुकाव न हो।  

# कभी भी आपके घर के जल स्त्रोत जैसे- नल या जेटपंप कुआं इत्यादि जल के साधन कभी भी दक्षिण दिशा में नही होना चाहिए अन्यथा आपके घर से बरकत जाती रहती है जो कर्ज के रूप में आपके सामने आती है।