हाईस्कूल के विद्यार्थियों द्वारा अब चाँद पर होगी रिमोट कंट्रोल कार रेसिंग, जाने कब व कैसे

हाईस्कूल के विद्यार्थियों द्वारा अब चाँद पर होगी रिमोट कंट्रोल कार रेसिंग, जाने कब व कैसे

अगले वर्ष अक्टूबर में चांद पर भी कार रेसिंग होगी. इस रेस में भाग अंतरिक्ष वैज्ञानिक नहीं बल्कि हाईस्कूल के विद्यार्थी लेंगे. दुनिया में पहली बार चांद पर रिमोट कंट्रोल कार रेसिंग होने जा रही है.

 अमेरिका की एयरोस्पेस कम्पनी मून मार्क नाम इस कॉन्टेस्ट को आयोजित कर रही है. इसमें एलन मस्क की स्पेस एक्स कंपनी की सहायता ली जा रही है. स्पेस एक्स के रॉकेट फाल्कन-9 के जरिए दो रोबोटिक कारें चांद की सतर पर भेजी जाएंगी.

रेसिंग प्लानिंग के 4 पॉइंट्स

2.5 किलो होगा एक कार का वजन
स्पेस एक्स के ही लैंडर नोवा-सी के जरिए 2.5-2.5 किलो वजनी दोनों कारों को सतह पर उतारा जाएगा. धरती से वाईफाई और टेलीमेट्री के जरिए कारें कंट्रोल की जाएंगी. वैसे यह रेस का शुरुआती चरण है.

स्टूडेंट्स डिजाइन करेंगे कार
इस कॉन्टेस्ट के लिए पूरे विश्व से हाईस्कूल्स की टीमें चुनी जा रही हैं. इन ग्रुप्स में पांच-पांच मेम्बर होंगे. आखिरी दौर तक पहुंचने वाली छह टीमों के बीच मुकाबला होगा और उसमें से दो विजेता चांद पर रेसिंग करेंगे. इसमें विजेता होने वाली टीम हाइब्रिड स्पोर्ट्स कार ‘मैक्लेरेन पी-1’ के डिज़ाइनर फ्रेंक स्टीफेन्सन के साथ मिलकर कार डिजाइन करेंगे.

कम ग्रेविटी वाले हिस्से में होगी रेस
हाईटेक कार चांद पर कम ग्रेविटी वाले हिस्से में रेस लगाएगी. मून मार्क ने वैसे इस रेस के ट्रैक और लागत के बारे में खुलासा नहीं किया है. जानकारी के मुताबिक, लूनर सर्किट ट्रैक की डिजाइनिंग का जिम्मा जाने-माने जर्मन इंजीनियर हर्मेन टिल्के को दिया गया है.

74 करोड़ रुपए आएगा खर्च
इस प्रतियोगिता में 74 करोड़ रुपए का खर्च आएगा. अक्टूबर 2021 से पहले मून मार्क इस पूरी प्रक्रिया और प्रयोगों को कैमरे में कैद करने के साथ बाद में कारों का उत्पादन और वैश्विक रूप से वितरण भी करेगी.


कमर की चर्बी कम करने के साथ ही पाचन भी दुरुस्त रखेगा कटिचक्रासन

कमर की चर्बी कम करने के साथ ही पाचन भी दुरुस्त रखेगा कटिचक्रासन

फैट बॉडी के किसी भी हिस्से में हो खूबसूरती को कम ही करता है। बढ़ता फैट ना सिर्फ देखने में भद्दा लगता है, बल्कि सेहत के लिए यह नुकसानदायक है। वज़न को कम करने के लिए हम लोग तरह-तरह के फंडे अज़माते हैं। लेडीज हो या जेंट्स पतली कमर हर किसी को अच्छी लगती है। पतली कमर और मजबूत कंधे आप योग के जरिए हासिल कर सकते है। कटिचक्रासन एक ऐसा योगा है जो ना सिर्फ कमर को पतला करता है बल्कि गर्दन और पीठ की जकड़न को भी दूर करता है। इस योगा को करने से ना सिर्फ आलस दूर होता है बल्कि शरीर में हल्कापन भी महसूस होता है। यह योगा कमर की चर्बी को कम करता है, बल्कि कब्ज व गैस की समस्या भी दूर करता है। ये किडनी, लीवर, आंतों व पैन्क्रियाज की सेहत का भी ख्याल रखता है। आइए जानते हैं कि कटिचक्रासन क्या है और इसे किस तरह किया जाएं और इसके कौन-कौन से फायदे हैं।

कटिचक्रासन क्या है?


कटिचक्रासन एक योग है जोकि तीन शब्दों से मिलकर बना है कटि + चक्र + आसन। इस आसने से दोनों भुजाओं, गर्दन और कमर की एक्सरसाइज होती है। यह आसन खड़े होकर किया जाता है। इस आसन को सुबह और शाम दिन में दो बार खाली पेट करें। आइए जानते हैं कि इस आसन को कैसे करें

पहला स्टैप :- सबसे पहले सावधान अवस्था में खड़े हो जाएं

दूसरा स्टैप:- इस तरह से खड़े हो ताकि दोनों पैरों के बीच डेढ़ से दो फुट की दूरी बन सके


तीसरा स्टैप :- अब अपने कंधों की सीध में दोनों हाथों को फैलाएं। इसके बाद बाएं हाथ को दाएं कंधे पर रखें और दाएं हाथ को पीछे से बाईं ओर लाकर धड़ से लपेटे।

चौथा स्टैप :- सांस क्रिया सामान्य रूप से करते हुए मुंह को घुमाकर बाएं कंधों की सीध में ले आएं।

पांचवा स्टैप :- अब इस स्थिति में कुछ समय तक खड़े रहें और फिर दाईं तरफ से भी इस क्रिया को इसी तरह से करें।


छटा स्टैप :- इस क्रिया को दोनों हाथों से 4-4- बार करें।

कटिचक्रासन के फायदे


पेट और कमर की चर्बी को कम करता है ये आसन।
कब्ज और एसिडिटी से निजात दिलाता है ये आसन।
ये योगा शुगर और ब्लड प्रेशर के मरीजों के लिए बेहद फायदेमंद है।
तनाव को कम करता है ये योगा। मानसिक तनाव से मुक्ति पाने के लिए ये आसन बहुत ही फायदेमंद है।


लुटेरों ने ट्रेन पर बोला धावा, 6 बोगियों में यात्रियों से की जमकर लूटपाट       देश पर नया खतरा! ये आतंकी संगठन चर्चा में...       मराठी भाषा दिवस कार्यक्रम में बिना मास्क के दिखे राज ठाकरे, बोले...       14 मार्च तक स्कूल-कॉलेज और कोचिंग बंद, पुणे में कोरोना ने पकड़ी रफ्तार       केजरीवाल ने कहा कि अंग्रेजों ने किसानों पर इतने जुल्म नहीं किए, BJP ने उन्हें भी पीछे छोड़ दिया       Tiger 3: सलमान खान, कटरीना कैफ और इमरान हाशमी ने पूजा में लिया भाग       Alaya Furniturewalla रुमर्ड बॉयफ्रेंड ऐश्वर्य ठाकरे के साथ फिर आई नजर       जब सबके सामने आलिया भट्ट-रणबीर कपूर गलती से करने वाले थे लिप-लॉक       इस एक्टर के खिलाफ जारी हुआ नोटिस, फिल्म 'रुस्तम' से जुड़ा हुआ है मामला       इस एक्ट्रेस की हमशक्ल निकली पाकिस्तानी महिला आमना इमरान       कोरोना से संक्रमित गर्भवती महिलाओं को नहीं है स्टिलबर्थ या गर्भपात का ख़तरा अधिक       कमर की चर्बी कम करने के साथ ही पाचन भी दुरुस्त रखेगा कटिचक्रासन       इन गलतियों के चलते नहीं बढ़ते हैं आपके बाल, अपनाएं ये उपाय       इम्यूनिटी बढ़ाने के साथ ही हड्डियों को मजबूत करता है नारियल       वज़न कंट्रोल करने से लेकर दिल की सेहत का भी ख़्याल रखता है गुलकंद       हफ्ते में कितनी बार वजन नापना सही होता है, जानें       तेजी से वज़न कम कर रहे हैं तो उसके साइड इफेक्ट भी जान लीजिए नहीं तो...       तनाव के लिए रामबाण दवा है पुदीना, इस तरह से करें इस्तेमाल       अस्थमा और हायपरटेंशन के मरीज रोजाना करें यह योगासन, जानें       प्रदूषण की वजह से बढ़ रही हैं फेफड़ों से जुड़ी बीमारियां