हांथो पैरो की देखभाल के लिए करें ये काम, जानिए क्या होगा इसका परिणाम

हांथो पैरो की देखभाल के लिए करें ये काम, जानिए क्या होगा इसका परिणाम

गर्मी हो या सर्दी, अपने हाथों व पैरों की केयर करना बहुत महत्वपूर्ण है अन्यथा ये काले पड़ जाते हैं. जानें कुछ खास टिप्स के बारे में, जो हर मौसम में हाथों-पैरों की खूबसूरती को बरकरार रखते हैं…

लाइट मॉयश्चराइजर या कारागार बेस्ड मॉयश्चराइजर का दिन में दो बार प्रयोग करना चाहिए. इन दिनों मार्केट में वॉटर बेस्ड मॉयश्चराइजर उपलब्ध हैं, जो इस मौसम के लिए बिल्कुल उपयुक्त हैं.

ड्राई स्किन वालों को जैतून व अरंडी के ऑयल की कुछ बूंदों को अच्छे से मिलाकर हल्का गर्म कर लेना चाहिए. रात में सोने से पहले दो से पांच मिनट तक हाथ व पैर में इस मिलावट से मालिश करनी चाहिए. हॉट टॉवेल स्टीम का प्रयोग भी ऑयल को स्किन के अंदर प्रवेश कराता है. इससे ड्राइनेस भी दूर होती है.

स्किन वैसी ही नजर आती है, जैसा आप खाते हैं. आप जो भी खाते हैं, वह हमारे मेटाबॉलिज्म को निर्देशित करता है, जिसका प्रभाव स्कीन व बालों पर दिखाई देता है, इसलिए फ्राइड फूड, जंक फूड, मांस-मछली व रेडी टू इट पैक नहीं खाना चाहिए.

हाथों व पैरों की चमक बरकरार रखने के लिए नियमित रूप से मॉयश्चराइज करना चाहिए. स्किन के हेल्दी लुक के लिए होममेड पैक मैजिकल तौर पर कार्य करते हैं. इसके लिए खरबूज, ग्लिसरीन की कम से कम तीन बूंद व एक चुटकी हल्दी को अच्छे से मिलाकर फ्रीजर में 5 मिनट के लिए रख दें. इस पैक को 15 मिनट के लिए लगाएं व काली हो चुकी व मृत स्कीन से मुक्ति पाने के लिए सर्कल में रगड़ें.

हाथ-पैर की घर पर नियमित देखभाल के लिए आटा, चोकर व मलाई का मिलावट उपयुक्त है. नींबू का उल्टा भाग भी कोहनी व पैरों के लिए चमत्कारिक है. दरअसल, नींबू में क्षारीय तत्व होता है, जिसमें मेलानिन को संतुलन में रखने की क्षमता होती है. नींबू का उपयोग स्क्रबर के तौर बेहतर है. इसके उल्टे हिस्से पर चीनी छिड़क कर टैन हिस्सों पर रगड़ें. इसके नियमित उपयोग से मृत स्कीन भी निकल जाती है.