एक चोटी सी इलायची कई रोगो से दिलाती हैं छुटकारा

एक चोटी सी इलायची कई रोगो से दिलाती हैं छुटकारा

इंडिया में खाने में तो मसालों का प्रयोग किया ही जाता है, साथ ही इनका प्रयोग आयुर्वेदिक दवाओं की तरह रोगों को अच्छा करने के लिए भी होता है. पहले के वक़्त में दादी-नानी घर पर ही मसालों से जुड़े देसी नुस्खों के बारे में जानकारी देती थीं, जिसमें हरी इलायची भी उपस्थित है. हरी इलायची को लोग मसाले के रुप में उपयोग करते हैं. जिसका सबसे अधिक प्रयोग लोग स्वीट डिश में खुशबू व टेस्ट को बढ़ाने के लिए करते हैं. रसोई में आसानी से मिलने वाली इलायची के कई स्वास्थ्य फायदा भी हैं. हरी इलायची का रोजाना सेवन आपको कई तरह की रोंगों से दूर रखता है.

इलायची को माउथ फ्रेशनर की तरह प्रयोग किया जाता है,क्योंकि ये मुंह की बदबू से भी छुटकारा दिलाती है. अगर आपको मुंह से दुर्गंध आने की कठिनाई है, तो खाना खाने के बाद एक या दो इलायची चबा लें. इससे हाजमा भी अच्छा रहेगा व मुंह की दुर्गंध से निजात भी मिल जाएगी.

किसी को कठिनाई होती है कि जब उनके पेट में गैस होती है तो सिर में दर्द होना प्रारम्भ हो जाता है. इसलिए इलायची का सेवन करें. इससे आपकी पाचन प्रकिया व भी सरल हो जाती है. गैस के कारण सिर में होने वाले दर्द में भी राहत मिलती है. इलायची का सेवन बदहजमी की वजह से होने वाली एसिडिटी की कठिनाई में भी राहत दिलाता है. खाना खाने के बाद मुंह में इलायची डाल कर लगभग सौ कदम टहलना जरुरी है.

इलायची शरीर के टॉक्सिन (विषैले पदार्थ) को बाहर निकालने में सहायता करती है. जिसमे कैल्शियम,पौटेशियम व मैग्नेशियम जैसे खनिज पाए जाते हैं. इलायची का सेवन रक्तचाप को भी नियंत्रित करने में सहायता गार है.