सुभाष घई बोले- महिमा चौधरी को उस वक्त लोगों ने मेरे विरूद्ध भड़का दिया था इसलिए वो हो गई थी नाराज

सुभाष घई बोले- महिमा चौधरी को उस वक्त लोगों ने मेरे विरूद्ध भड़का दिया था इसलिए वो हो गई थी नाराज

मुंबई फिल्म इंडस्ट्री इन दिनों इनसाइडर व आउटसाइड के खेमे में बंट चुकी है. हर दूसरे दिन इसे लेकर नए-नए आरोप सुनने व देखने को मिल रहे हैं. नया मुद्दा महिमा चौधरी का सामने आया है, जिन्होंने एक साक्षात्कार में बोला है कि अपनी फिल्म 'परदेस' के समय निर्देशक सुभाष घई ने उन्हें बड़े पैमाने पर बुली किया था व कार्य को लेकर ढेर सारी पाबंदियां लगा दी थीं.

महिमा ने आरोप लगाते हुए बोला कि उस वक्त घई ने ट्रेड मैगजीन में ऐड तक निकलवा दिया था कि कोई भी शो या फिल्म सुभाष घई की परमिशन के बिना महिमा चौधरी नहीं करेंगी. दैनिक भास्कर ने इस मामले में सुभाष घई से बात की व उनका पक्ष जाना.

हम आज भी अच्छे दोस्त हैं

सुभाष घई ने अपना पक्ष रखते हुए बोला कि 'यह वैसे तो रात गई, बात गई वाली बात है. फिर भी मैं यही बोलना चाहूंगा कि मैं व महिमा आज भी अच्छे दोस्त हैं. 'परदेस' के बाद भी हम मिलते जुलते रहे. कार्य की बातें होती रहीं. हाल के सालों में उन्होंने मेरी फिल्म 'कांची' में भी कार्य किया था व इसके लिए एक पैसा भी नहीं लिया था.'

तीन फिल्मों का कॉन्ट्रैक्ट था

आगे उन्होंने कहा, 'हालांकि जो बात वे अब कह रही हैं, उसका संदर्भ मेरी कंपनी के साथ उनके कॉन्ट्रैक्ट को लेकर है. 'परदेस' के बाद उन्हें मेरी कंपनी के साथ दो व फिल्में करनी थीं व जैसा कि बाकी बैनरों के साथ भी होता है कि अगर वो किसी न्यूकमर को लॉन्च करते हैं तो उसके साथ तीन फिल्मों का कॉन्ट्रैक्ट होता है.'

कुछ लोगों ने उसे भड़का दिया था

'कॉन्ट्रैक्ट की शर्तों के अनुसार इस दौरान वो किसी व बैनर के साथ कार्य नहीं कर सकता है. कुछ ऐसा ही मेरे व महिमा चौधरी के बीच भी था, लेकिन कुछ प्रोड्यूसर व ट्रेड एनालिस्ट ने महिमा को मेरे विरूद्ध भड़का दिया, हमारे बीच गलतफहमियां पैदा कर दीं कि सुभाष घई जोर जबरदस्ती कर रहे हैं. पर ऐसा नहीं था.'

'महिमा जब उस वक्त नाराज हुईं तो मैंने वो कॉन्ट्रैक्ट भी बदल दिया था. जिसके बाद उन्होंने अन्य बैनर्स के साथ कार्य भी किया. व हमारी दोस्ती आज भी बरकरार है.' बता दें कि महिमा चौधरी को सुभाष घई ने ही 'परदेस' के जरिए लॉन्च किया था.