Volvo की गाड़ियां अब होगी सबसे सुरक्षित कंपनी ने 180kmph तक स्पीड को किया सीमित

Volvo की गाड़ियां अब होगी सबसे सुरक्षित कंपनी ने 180kmph तक स्पीड को किया सीमित

दुनिया में सबसे सुरक्षित वाहनों बनाने के लिए प्रसिद्व वाहन स्वीडिश कार निर्माता Volvo ने घोषणा की है कि अब उनकी सभी कारें अब स्पीड लॉक सिस्टम के साथ लॉन्च होंगी. जिसमें कंपनी की संसार भर में बिकने वाली सभी कारों की स्पीड 180kmph तक ही सीमित होगी. बता दें, सड़क दुर्घटनाओं को कम करने के लिए वोल्वो ने अपनी गाड़ियों में यह सिस्टम पेश करने की घोषणा की है. हालांकि इस घोषणा के साथ कंपनी ने बताया कि हर नए वोल्वो मॉडल के साथ अब एक ‘Care Key’ को भी दिया जाएगा. जिसके जरिए वाहन मालिक अपनी कार की गति को ओर भी सीमित कर सकेंगे.

स्वीडिश कार निर्माता का बोलना है कि यह कदम यातायात सुरक्षा में सुधार करेंगे व लोगों को एक स्पीड तक सीमित रखने में अच्छा होगा. संसार भर में हर वर्ष कार एक्सीडेंट में लाखों लोग मारे जाते हैं व वोल्वो को उम्मीद है कि इस कदम से लोगों की स्पीड से कार चलाने की मानसिकता पर प्रभाव पड़ेगा. वॉल्वो कार्स सेफ्टी सेंटर के प्रमुख मालिन एकहोम ने कहा, कि “हम मानते हैं कि एक कार निर्माता की ज़िम्मेदारी है कि वह ट्रैफ़िक सुरक्षा को बेहतर बनाने में मदद करे. हमारी गति-सीमित करने वाली तकनीक इस सोच पर बिल्कुल फिट बैठती है. ”

बता दें, Volvo हमेशा से अपनी गाड़ियों में नए मार्डन तकनीक का प्रयोग करने के लिए जानी जाती है. हाल ही में कंपनी नेक्स्ट जेनरेशन कारों में खास रोशनी डिटेक्शन एंड रैंगिंग (LiDAR) तकनीक का इस्तेमाल करेगी. इस तकनीक की मदद से वाहन को चलाने के लिए ड्राइवर की आवश्यकता नहीं होगी. कंपनी ने इस तकनीक के लिए फर्म लुमिनार के साथ साझेदारी कर रही है.

इसके सा​थ ही Volvo cars हिंदुस्तान मे लिए बिना ड्राइवर वाली गाड़ियों पर कार्य कर रही है. स्वीडिश कार निर्माता ने इस बात की घोषणा की है कि उसके नेक्सट जेनरेशन मॉडल्स को SPA2 तकनीक पर तैयार किया जाएगा. जो हाइवे पर ड्राइव सॉफ्टवेयर की मदद से अपने आप चलेंगी. वोल्वो ने घोषणा की है कि इस लक्ष्य तक पहुंचने के लिए वह ऑटोनोमस ड्राइविंग तकनीक को जल्द से जल्द तैयार करेगी.