गूगल लॉक डाउन के दौरान ट्रैवलिंग करने वालों को कर रहा ट्रैक

गूगल लॉक डाउन के दौरान ट्रैवलिंग करने वालों को कर रहा ट्रैक

कोरोनावायरस महामारी को फैलने से रोकने के लिए दुनियाभर की सरकारों की ओर से आम नागरिकों को घर में रहने की सलाह दी जा रही है. इसी मुहिम को अब गूगल जैसी टेक कंपनियों की ओर से भी आगे बढ़ाया जा रहा है. गूगल लॉक डाउन के दौरान ट्रैवलिंग करने वालों के मूवमेंट को रिकॉर्ड कर रहा है. यह टेक फर्म भिन्न-भिन्न प्लेस व लोगों की ट्रैवलिंग डिटेल को जारी कर रही है.

गूगल ने 130 राष्ट्रों में प्रारम्भ की पहल
गूगल यूके समेत 130 देश के लोगों की ट्रैवलिंग मूवमेंट को ट्रैक कर रहा है. इस पहल के तहत गूगल दो या तीन दिन पहले के ट्रैवलिंग रिकॉर्ड के आंकड़ों को नियमित तौर पर जारी करेगा. हालांकि कंपनी की तरफ से यह भी भरोसा दिलाया गया है कि वो लोगों की प्राइवेसी का ख्याल रखेगी.
किस तरह से जानकारी इकट्ठा की जाती है
गूगल की तरफ से गूगल मैप व अन्य मोबाइल फर्म की मदद से लोगों के लोकेशन व ट्रैवलिंग डेटा को इकट्ठा किया जाता है. यह फर्म आमतौर पर संग्रहालयों, दुकानों व अन्य स्थानों की लोकेशन को ट्रैक करता है. बीबीसी की रिपोर्ट के मुताबिक गूगल का इस तरह का डेटा उन लोगों के लिए चौंकाने वाला साबित होने कि सम्भावना है, जो इस बात से अनजान हैं कि Google कितनी तेजी से जानकारी एकत्र कर सकता है. गूगल के पास हर प्रत्येक 48 घंटे में डेटा आ जाता है, जिससे पता किया जा सकता है कि लॉकडाउन में कोई आदमी कहां जा रहा है.