मोटर व हेल्थ पॉलिसी धारकों को दिया प्रीमियम भुगतान टालने का विकल्प, वित्त मंत्री ने जारी किया नोटिफिकेशन

मोटर व हेल्थ पॉलिसी धारकों को दिया प्रीमियम भुगतान टालने का विकल्प, वित्त मंत्री ने जारी किया नोटिफिकेशन

नई दिल्ली: सरकार ने देशव्यापी लॉकडाउन को देखते हुए मोटर व हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी होल्डर्स को उनके नवीकरण प्रीमियम के पेमेंट को टालने की अनुमति दी है. वित्त मंत्री ने एक नोटिफिकेशन में 25 मार्च से 14 अप्रैल के बीच देशव्यापी लॉकडाउन की अवधि के दौरान के थर्ड पार्टी मोटर इंश्योरेंस प्रीमियम को स्थगित करने की अनुमति दी है. पॉलिसी के नवीकरण के लिए इसे 21 अपैल को या इससे पहले बिना किसी पेनल्टी के जमा कराना होगा.

विलंब से जमा कराया गया यह पेमेंट वैधानिक मोटर व्हीकल थर्ड पार्टी इंश्योरेंस कवर की पॉलिसी की नवीकरण के लिए तारीख से निरंतरता को सुनिश्चित करेगा. वित्तीय सेवा विभाग ने एक अप्रैल को जारी नोटिफिकेशन में यह बात कही है. सरकार ने पेमेंट में रियायत का यह समान विकल्प उन स्वास्थ्य बीमा धारकों को भी दिया है, जिन्हें लॉकडाउन के दौरान नवीकरण प्रीमियम जमा कराना है.

सरकार ने यह राहत लॉकडाउन की अवधि में लोगों की निर्बल वित्तीय स्थिति को ध्यान में रखते हुए दी है. बताते चलें कि देशभर में 25 मार्च से ही 21 दिन का लॉकडाउन चल रहा है. कोरोना वायरस को फैलने से रोकने के लिए सरकार ने यह लॉकडाउन लागू किया है. कोरोना वायरस को फैलने से रोकने के लिए इसकी संक्रमण की चेन को तोड़ना महत्वपूर्ण होता है.

इससे पहले भारतीय रिज़र्व बैंक ने देनदारों को ईएमआई के भुगतान में तीन महीने तक रियायत देने की घोषणा की थी. अर्थात देनदारों को तीन महीने तक अपनी ईएमआई स्थगित करने का विकल्प दिया गया था, लेकिन इस अवधि में उस पर ब्याज जारी रहेगा.