भारत समेत इन चार देशों के बीच बनेगा व्यापारिक समूह

भारत समेत इन चार देशों के बीच बनेगा व्यापारिक समूह

जापान, भारत, आस्ट्रेलिया तथा अमेरिका के कारोबारी समूह बनने से इंडियन निर्यात को बूस्टर डोज प्राप्त होने की आशा है। इस कारोबारी समूह को लेकर भारत, जापान तथा आस्ट्रेलिया के व्यवसाय मंत्रियों के मध्य बैठक भी हो चुकी है। वाणिज्य एवं उद्योग मंत्रालय के सूत्रों के अनुसार, इस समूह में शीघ्र ही अमेरिका भी सम्मिलित हो सकता है। इन चार देशों के मध्य कारोबार समूह बनने से दुनिया के सप्लाई चेन में चीन का वर्चस्व भी खत्म होगा। जापान, आस्ट्रेलिया तथा अमेरिका तीनों ही देश चीन से व्यवसायिक संबंध कम करना चाहते हैं जिसका डायरेक्ट मुनाफा भारत को होता नजर आ रहा है।

विदेश व्यवसाय एक्सपर्ट्स के अनुसार जापान, आस्ट्रेलिया तथा अमेरिका का चीन के साथ होने वाले द्विपक्षीय कारोबार का 10 फीसद भी भारत के भाग आ जाए तो भारत के निर्यात में बेहतरीन बढ़ोतरी आ जाएगी। वाणिज्य मंत्रालय के आंकड़ों के अनुसार, आस्ट्रेलिया तथा देश के मध्य साल 2018 में 30 अरब डॉलर का कारोबार किया गया। किन्तु इस दौरान आस्ट्रेलिया ने चीन के साथ 200 अरब डॉलर का व्यवसाय किया।

साल 2019-20 में देश ने अमेरिका के साथ 88.75 अरब डॉलर का व्यवसाय किया। वहीं साल 2019 में अमेरिका ने चीन के साथ 659.8 अरब डॉलर का व्यवसाय किया। अमेरिका ने इस समय में चीन को 120.3 अरब डॉलर का निर्यात किया जबकि अमेरिका ने चीन से 419.2 अरब डॉलर का आयात किया। जापान तथा चीन के मध्य 300 अरब डॉलर से ज्यादा का व्यवसाय किया जाता है। जबकि भारत तथा जापान के मध्य साल 2018 में केवल 17.6 अरब डॉलर का व्यवसाय किया गया। इसी के साथ इस बार कई बदलाव हो सकते है।