Sensex 61,000 अंक के पार, निफ्टी ने भी बनाया नया रिकॉर्ड

Sensex 61,000 अंक के पार, निफ्टी ने भी बनाया नया रिकॉर्ड

घरेलू शेयर बाजारों में लगातार छठे दिन रिकॉर्ड बढ़त देखने को मिली। कई हेवीवेट कंपनियों के शेयरों में लिवाली की बदौलत BSE Sensex ने गुरुवार को पहली बार 61,000 अंक के स्तर को पार किया। BSE Sensex गुरुवार को 568.90 अंक यानी 0.94 फीसद के उछाल के साथ 61,305.95 अंक के स्तर पर बंद हुआ। इसी तरह NSE Nifty 176.70 अंक यानी 0.97% फीसद की तेजी के साथ 18,338.50 अंक के स्तर पर बंद हुआ। निफ्टी पर Adani Ports, Wipro, Grasim, ITC और HDFC Bank के शेयरों में सबसे ज्यादा तेजी देखने को मिली। वहीं, Coal India, Eicher Motors, Tata Motors, HCL Tech और TCS के शेयरों में गिरावट देखने को मिली।

सेक्टोरल इंडेक्स का हाल

ऑटो को छोड़कर अन्य सभी सेक्टोरल इंडेक्स हरे निशान के साथ बंद हुए। इन्फ्रा, आईटी, रियलिटी, पीएसयू बैंक, पावर और मेटल इंडेक्स में एक फीसद से ज्यादा की तेजी देखने को मिली।


सेंसेक्स पर इन शेयरों में रही तेजी

BSE Sensex पर ITC के शेयर में सबसे ज्यादा 2.89 फीसद का उछाल देखने को मिला। इसके अलावा ITC, HDFC Bank, Powergrid, ICICI Bank, IndusInd Bank, NTPC, L&T, Tech Mahindra, SBI, Bajaj Finserv, HDFC, Tata Steel, Titan, Axis Bank, Ultratech Cement, Dr Reddy's, Kotak Mahindra Bank, Infosys, Reliance, Maruti, HUL और Nestle India के शेयर हरे निशान के साथ बंद हुए।


इन शेयरों में रही गिरावट

सेंसेक्स पर TCS के शेयर में 1.22 फीसद की गिरावट दर्ज की गई। इसके अलावा HCL Tech, Bajaj Finance, Asian Paints, Bharti Airtel, M&M, Bajaj Auto और Sun Pharma के शेयर लाल निशान के साथ बंद हुए।

जियोजित फाइनेंशियल सर्विसेज में प्रमुख (शोध) विनोद नायर ने कहा, ''सकारात्मक वैश्विक बाजार, महंगाई दर के अनुकूल आंकड़े और आईटी स्टॉक में लिवाली से भारतीय बाजार में तेजी का सिलसिला जारी रहा।''

सितंबर में थोक महंगाई दर 10.66 फीसद पर रही। क्रूड पेट्रोलियम के दाम में तेजी के बावजूद खाद्य वस्तुओं की कीमतों में नरमी से थोक महंगाई दर में अगस्त, 2021 की तुलना में नरमी देखने को मिली।

नायर ने कहा, ''स्टॉक मार्केट में तेजी में बैंकिंग स्टॉक का भी योगदान रहा और उस पर सबकी निगाहें लगी रहीं क्योंकि इस सेक्टर के तिमाही परिणाम आने की शुरुआत होने वाली है।''

अन्य एशियाई बाजारों की बात की जाए तो सिओल और टोक्यो में शेयर बाजार बढ़त के साथ बंद हुए। वहीं शंघाई में शेयर बाजार लाल निशान के साथ बंद हुए। यूरोप में दोपहर के सत्र में स्टॉक एक्सचेंज में बढ़त के साथ कारोबार हो रहा था।


टॉप 5 कंपनियों के बाजार मूल्यांकन में आई गिरावट, Reliance, TCS, और HUL को हुआ सबसे ज्यादा नुकसान

टॉप 5 कंपनियों के बाजार मूल्यांकन में आई गिरावट, Reliance, TCS, और HUL को हुआ सबसे ज्यादा नुकसान

भारत की टॉप 10 में से टॉप 5 कंपनियों के बाजार मूल्यांकन में पिछले सप्ताह गिरावट देखने को मिली। टॉप-5 कंपनियों का संयुक्त बाजार मूल्यांकन पिछले सप्ताह 1,42,880.11 करोड़ रुपये घट गया, जिसमें Hindustan Unilever, Reliance Industries and Tata Consultancy Services को सबसे ज्यादा नुकसान हुआ।

Hindustan Unilever Ltd (HUL) का बाजार मूल्यांकन 45,523.33 करोड़ रुपये घटकर 5,76,836.40 करोड़ रुपये पर पहुंच गया। वहीं, Reliance Industries Ltd (RIL) का बाजार मूल्यांकन 45,126.6 करोड़ रुपये घटकर 16,66,427.95 करोड़ रुपये का रह गया। Tata Consultancy Services (TCS) का बाजार मूल्यांकन 41,151.94 करोड़ रुपये घटकर 12,94,686.48 करोड़ रुपये रह गया।


इसके अलावा Bajaj Finance का बाजार मूल्यांकन (M-cap) 8,890.95 करोड़ रुपये गिरकर 4,65,576.46 करोड़ रुपये का रह गया। जबकि, HDFC बैंक लिमिटेड के बाजार मूल्यांकन में 2,187.29 करोड़ रुपये की गिरावट देखने को मिली और इसका बाजार मूल्यांकन 9,31,371.72 करोड़ रुपये पर आ गया।

इन कंपनियों के अलावा बाकी की कंपनियों के बाजार मूल्यांकन में बढ़त देखने को मिली। इसमें Kotak Mahindra Bank ने 30,747.78 करोड़ रुपये जोड़े, जिससे उसका मूल्यांकन 4,30,558.09 करोड़ रुपये हो गया। ICICI Bank का बाजार मूल्यांकन 22,248.14 करोड़ रुपये बढ़कर 5,26,497.27 करोड़ रुपये पर पहुंच गया।


HDFC का मूल्यांकन 17,015.22 करोड़ रुपये बढ़कर 5,24,877.06 करोड़ रुपये का हो गया। State Bank of India का बाजार मूल्यांकन 11,111.14 करोड़ रुपये बढ़कर 4,48,863.34 करोड़ रुपये का हो गया। वहीं, Infosys ने 1,717.96 करोड़ रुपये जोड़े और इसका मूल्यांकन 7,29,410.37 करोड़ रुपये हो गया।

इसके अलावा पिछले हफ्ते बीएसई के 30 शेयरों वाले बेंचमार्क सेंसेक्स में 484.33 अंक या 0.79 फीसदी की गिरावट देखने को मिली थी। सेंसेक्स के साथ निफ्टी में भी शुक्रवार को गिरावट देखने को मिली थी।

शीर्ष -10 सबसे मूल्यवान कंपनियों की रैंकिंग में, रिलायंस ने अपना पहला स्थान बरकरार रखा है। उसके बाद टीसीएस, एचडीएफसी बैंक, इंफोसिस, एचयूएल, आईसीआईसीआई बैंक, एचडीएफसी, बजाज फाइनेंस, स्टेट बैंक ऑफ इंडिया और कोटक महिंद्रा बैंक का नंबर आता है।