अब सरकार से इनकम छुपाने वाले हो जाए सावधान, आयकर विभाग करने जा रहा यह काम

अब सरकार से इनकम छुपाने वाले हो जाए सावधान, आयकर विभाग करने जा रहा यह काम

आयकर विभाग पैन समेत करदाताओं से जुड़ी तमाम सूचनाएं मार्केट नियामक सेबी (SEBI) के साथ साझा करेगा. इसमें पैन बनने के लिए आवेदन या उसके बनने की तारीख, पिता या पति का नाम, फोटोग्राफ आदि शामिल हैं। इसके अतिरिक्त इनकम टैक्स रिटर्न में उपलब्ध सूचना जैसे केवाईसी, ई-मेल आईडी, मोबाइल नंबर, पता, आईपी एड्रेस, किसी कंपनी द्वारा भरे गए आईटीआर में उपलब्ध वित्तीय सूचना, कर आडिट रिपोर्ट आदि जैसी सूचनाएं भी साझा की जाएंगी.

इससे नियामक को शेयर मार्केट में गड़बड़ी में शामिल इकाइयों के विरूद्ध अपनी जाँच में मदद मिलेगी. केंद्रीय प्रत्यक्ष कर बोर्ड (सीबीडीटी) ने इनकम टैक्स कानून की धारा 138 (1) के तहत इस संदर्भ में 10 फरवरी को आदेश जारी किया था. भारतीय प्रतिभूति एवं विनिमय बोर्ड (सेबी) को सूचनाएं तीन श्रेणियों- अनुरोध करने पर, स्वत: संज्ञान व स्वत: आधार पर मिलेंगी.

दोनों संगठन इस फैसला को लागू करने व आंकड़ों के आदान-प्रदान, गोपनीयता को बनाए रखने और आंकड़ों के संरक्षण व उपयोग के बाद उसे खत्म करने के संदर्भ में जल्दी ही समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर कर सकते हैं.

सीबीडीटी ने बोला कि स्वत: संज्ञान के तहत शेयर मार्केट में गड़बड़ी से संबंधित नियमों के उल्लंघन से संबद्ध जाँच वाले मामलों की सूची व सेबी के लिए महत्वपूर्ण कोई अन्य सूचना उपलब्ध कराए जाएंगे. अनुरोध के आधार पर कर विभाग पैन सूचना साझा करेगा.

अयकर विभाग इकाइयों द्वारा टीडीएस व टीसीएस (स्रोत पर कर संग्रह) से संबद्ध लेन-देन के बारे में दी गई जानकारी व अन्य महत्वपूर्ण सूचनाएं सेबी के साथ साझा करेगा. फॉर्म 61 में उपलब्ध सूचना सेबी को दी जाएगी. बता दें फार्म 61 वह आदमी भरता है, जिसकी आय कृषि से है व उसे अन्य स्रोत से आय प्राप्त नहीं होती है जिस पर इनकम टैक्स लगता है.