इस फ़ोन के आगे फीके पड़ जाएंगे सारे मोबाइल

इस फ़ोन के आगे फीके पड़ जाएंगे सारे मोबाइल

लोकप्रिय और विश्वसनीय Smart Phone ब्रांड सैमसंग (Samsung) एक नया स्मार्टफोन, Samsung Galaxy M13 5G पेश करने जा रहे है जहां इस Smart Phone को लेकर कंपनी की तरफ से कोई सूचना अब तक सुनने के लिए नहीं मिली है आई है लेकिन सर्टिफिकेशन वेबसाइट्स और लीक्स के माध्यम से इस बारे में कुछ बातें सामने आ चुकी है तो चलिए Samsung Galaxy M13 5G के बारे में अबतक सामने आई सारी जानकारी

लॉन्च होने जा रहा Samsung Galaxy M13 5G: Samsung Galaxy M13 5G के पेश को लेकर बहुत वक़्त से बातें की जा रही है आपको बता दें कि इस Smart Phone को सैमसंग (Samsung) एक मिड-रेंज डिवाइस के रूप में पेश किया जा रहा है और इसे एफसीसी (FCC) लिस्टिंग पर देखा गया है इस सर्टिफिकेशन वेबसाइट के माध्यम से फोन के बारे में बहुत जानकारी हाथ आ चुकी है 

सर्टिफिकेशन वेबसाइट पर दिखा Samsung Galaxy M13 5G: जैसा कि हम पहले भी बता चुके है कि, Samsung Galaxy M13 5G को FCC (FCC) लिस्टिंग पर देखा जा सकता है इस सर्टिफिकेशन डेटाबेस पर सैमसंग का यह Smart Phone SM-M135M मॉडल नंबर से पेश कर दिया है इस Smart Phone को ब्लूटूथ SIG (Bluetooth SIG) सर्टिफिकेशन वेबसाइट पर भी देखा जा चुका है इन्हीं लिस्टिंग्स के माध्यम से फोन के बारे में जानकारी सामने आई है

फर्राटेदार स्पीड से चार्ज होगा Samsung Galaxy M13 5G: एफसीसी (FCC) लिस्टिंग की माने तो इस Smart Phone में आपको 15W का फास्ट चार्जिंग सपोर्ट भी दिया जा रहा है FCC साइट के मुताबिक से इस फोन को जिस चार्जिंग अडैप्टर के साथ टेस्ट किया गया है, उसका मॉडल नंबर EP-TA200 है ये अडैप्टर ही 15W के चार्जिंग आउटपुट के साथ मिल रहा है फिलहाल इस बारे में कोई समाचार नहीं आई है कि सैमसंग चार्जर फोन के साथ देगा या नहीं

Samsung Galaxy M13 5G के बाकी फीचर्स: इतना ही नहीं कि ब्लूटूथ एसआईजी (Bluetooth SIG) वेबसाइट के अनुसार से Samsung Galaxy M13 5G में आपको एक डुअल रीयर कैमरा सेटअप भी दिया जा रहा है इसमें 50MP का मेन सेंसर और 2MP का डेप्थ सेंसर भी दिया जा रहा है ये Smart Phone 6.5-इंच के IPS LCD पैनल के साथ आ सकता है; फिलहाल इसके डिस्प्ले के रेसोल्यूशन और रिफ्रेश दर के बारे में कोई सूचना सामने नहीं आई है  


मुख्यमंत्री बसवराज बोम्मई के नेतृत्व वाली टीम ने

मुख्यमंत्री बसवराज बोम्मई के नेतृत्व वाली टीम ने

कर्नाटक गवर्नमेंट ने बुधवार को बोला कि दावोस में विश्व आर्थिक मंच की बैठक “बहुत उपयोगी” साबित हुई है, क्योंकि सीएम बसवराज बोम्मई के नेतृत्व वाली टीम ने 52,000 करोड़ रुपये के कुल निवेश प्रवाह के लिए दो प्रमुख कंपनियों के साथ समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए हैं. सीएम कार्यालय ने एक बयान में बोला कि यह कर्नाटक की प्रमुख कंपनियों के मजबूत विश्वास और भरोसे का सबूत है और यह हाल के दिनों में राज्य द्वारा दर्ज किया गया सबसे बड़ा निवेश प्रस्ताव है. इन कंपनियों से अपेक्षित निवेश से हजारों लोगों के लिए रोजगार के अवसर पैदा होंगे.

उद्योग मंत्री मुरुगेश निरानी और आईटी, बीटी मंत्री सी नश्वथ नारायण के सक्षम योगदान से राज्य गवर्नमेंट बोम्मई के नेतृत्व में निवेशकों को बड़े पैमाने पर लुभाने में सफल रही है.

डब्ल्यूईएफ की बैठक में आज बोम्मई का तीसरा दिन था, इस दौरान उन्होंने पूरे विश्व के कई व्यापारिक नेताओं के साथ वार्ता की.

रिन्यू पावर, अक्षय ऊर्जा क्षेत्र में एक प्रमुख नाम, ने 50,000 करोड़ रुपये के निवेश के लिए राज्य गवर्नमेंट के साथ एक समझौता ज्ञापन (एमओयू) पर हस्ताक्षर किए हैं.

यह देखते हुए कि कंपनी अगले 7 सालों में दो चरणों में नवीकरणीय ऊर्जा, बैटरी भंडारण और ग्रीन हाइड्रोजन में उत्पादन इकाइयां स्थापित करने का इरादा रखती है, विज्ञप्ति में बोला गया है, पहले चरण में राज्य में चल रही परियोजनाओं पर 11,900 करोड़ रुपये का निवेश किया जाएगा और वे अगले 2 सालों में चालू हो जाएंगे.

दूसरे चरण में कंपनी अगले 5 सालों में अक्षय ऊर्जा और हरित हाइड्रोजन इकाइयों की स्थापना के लिए 37,500 करोड़ रुपये का निवेश करने की योजना बना रही है, यह कहते हुए कि दो चरणों में फैली परियोजनाओं से लगभग 30,000 लोगों के लिए रोजगार के अवसर पैदा होंगे.

सीएम ने इसे कर्नाटक के अक्षय ऊर्जा क्षेत्र में मील का पत्थर बताया है.

साथ ही, लुलु ग्रुप इंटरनेशनल कर्नाटक में 2,000 करोड़ रुपये के निवेश के लिए आगे आया है.

कंपनी 4 शॉपिंग मॉल और हाइपर बाजार खोलने का इरादा रखती है, और राज्य में निर्यात उन्मुख खाद्य प्रसंस्करण इकाइयां स्थापित करने की भी इच्छुक है. विज्ञप्ति में बोला गया है कि परियोजनाओं से 10,000 लोगों के लिए रोजगार के अवसर पैदा होने की आशा है.

कर्नाटक को सबसे सुन्दर निवेश गंतव्य बनाने के अपने कोशिश के हिस्से के रूप में राज्य की दो नयी नीतियों – नयी आर एंड डी नीति और नयी रोजगार नीति पर प्रकाश डालते हुए, बोम्मई ने कॉर्पोरेट सम्मानों को ग्लोबल इन्वेस्टर्स मीट में भाग लेने के लिए आमंत्रित किया. नवंबर में बेंगलुरु में और बेंगलुरु टेक समिट में आयोजित किया गया.

जिन कंपनियों ने कर्नाटक में निवेश करने के लिए रुचि दिखाई है उनमें सीमेंस शामिल है, जो चुंबकीय इमेजिंग और डायग्नोस्टिक्स पर ध्यान केंद्रित करते हुए बेंगलुरु में दो परियोजनाएं ले रही है और एक स्वास्थ्य संबंधी अनुसंधान एवं विकास परियोजना है.

राज्य गवर्नमेंट ने कंपनी को आधुनिक चिकित्सा उपकरणों के लिए अपनी उत्पादन इकाई स्थापित करने के लिए विशेष प्रोत्साहन का आश्वासन दिया है. तुमकुरु, हुबली-धारवाड़ और मैसूरु शहरों में निवेश आकर्षित करने के लिए ‘बियॉन्ड बेंगलुरु’ परियोजना पर भी चर्चा हुई.

डसॉल्ट सिस्टम्स कर्नाटक में इलेक्ट्रिक वाहनों, आधुनिक उत्पादन प्रणालियों, डिजिटल 4.0 प्रौद्योगिकी में विद्यार्थियों के लिए औद्योगिक प्रशिक्षण और स्मार्ट सिटी परियोजना में निवेश करने का इच्छुक है.

नेस्ले ने नंजनगुड में नेस्ले इंस्टेंट कॉफी इकाई के आधुनिकीकरण और विस्तार में रुचि दिखाई है.

भारती इंटरप्राइजेज के चेयरमैन एवं सीईओ सुनील भारती मित्तल ने राज्य में मेगा डाटा सेंटर स्थापित करने की मंशा जाहिर की है. राज्य गवर्नमेंट ने इसे साकार करने के लिए सभी आवश्यक योगदान का आश्वासन दिया है.

बोम्मई, जिन्होंने नोकिया के प्रमुख से मुलाकात की, ने सुझाव दिया कि दूरसंचार उत्पादों के निर्माण के लिए राज्य में अवसरों का अच्छा उपयोग करें.

नोकिया का बेंगलुरु में अपना सबसे बड़ा अनुसंधान केंद्र है, जिसमें 7,000 से अधिक टेक्नोक्रेट 5G, उन्नत 5G और 6G तकनीकों से संबंधित अनुसंधान में लगे हुए हैं.

उद्योग विभाग में अतिरिक्त मुख्य सचिव ईवी रमना रेड्डी, मुख्यमंत्री के प्रमुख सचिव एन मंजूनाथ प्रसाद और उद्योग विभाग में आयुक्त गुंजन कृष्णा मुख्यमंत्री की टीम का हिस्सा थे.

मुख्यमंत्री के रूप में बोम्मई की यह पहली विदेश यात्रा थी. पहले कयास लगाए जा रहे थे कि वह दावोस की यात्रा करेंगे या नहीं.