फेसबुक, वॉट्सऐप, जूम पर जो करना है कर लो, सरकार नहीं करेगी तांक-झांक; ट्राई की सिफारिश- फिलहाल रेगुलेशन से अलग ही रखें ओटीटी प्लेटफॉर्म्स को

फेसबुक, वॉट्सऐप, जूम पर जो करना है कर लो, सरकार नहीं करेगी तांक-झांक; ट्राई की सिफारिश- फिलहाल रेगुलेशन से अलग ही रखें ओटीटी प्लेटफॉर्म्स को

दूरसंचार मंत्री रविशंकर प्रसाद ने कई मौकों पर कहा है कि फेसबुक, वॉट्सऐप, टेलीग्राम समेत सभी ओटीटी प्लेटफॉर्म्स को जवाबदेही के दायरे में लाना आवश्यक है। इसके लिए केंद्र सरकार ने कोशिश भी शुरू की थीं। लेकिन, दूरसंचार नियामक ट्राई को लगता है कि इसकी कोई आवश्यकता नहीं है। यानी इन प्लेटफॉर्म्स पर यूजर को जो करना है, करने दो। सरकार को तांक-झांक नहीं करनी चाहिए। ट्राई की इन सिफारिशों पर सरकार को फैसला लेना है। ट्राई की सिफारिश से टेलीकॉम ऑपरेटर जरूर नाराज हो गए हैं। उनका कहना है कि जब हम पर इतने रेगुलेशन है तो इन ओटीटी प्लेटफॉर्म्स को क्यों छोड़ा जा रहा है। 5 सवालों में समझते हैं रेगुलेशन का मसला..

ओटीटी रेगुलेशन का मामला क्या है?

  • लंबे समय से मांग हो रही थी कि ओवर-द-टॉप (ओटीटी) प्लेटफॉर्म्स को भी जवाबदेह बनाना चाहिए। 2018 में तो इसके लिए सरकार पर दबाव भी बढ़ने लगा था, क्योंकि फेक न्यूज की वजह से मॉब लिंचिंग की घटनाएं लगातार सामने आ रही थीं।
  • ओटीटी कम्युनिकेशन सर्विसेस बुनियादी रूप से वह इंटरनेट ऐप्लिकेशंस हैं, जो मोबाइल ऑपरेटर्स के नेटवर्क से संचालित होती हैं। यह किसी न किसी तरह से टेलीकॉम कंपनियों की ही नहीं, बल्कि न्यूज चैनल्स और अखबारों की प्रतिस्पर्धी भी हैं।
  • दूरसंचार मंत्री रविशंकर प्रसाद ने 2018 में मॉब लिंचिंग की घटनाएं बढ़ने पर वॉट्सऐप से कहा था कि वह इन गैरकानूनी मैसेज का जरिया बताएं। साथ ही भड़काऊ संदेश भेजने वाले की पहचान करने में मदद करें। ट्राई की सिफारिशें इन निर्देशों के उलट हैं।

ट्राई की सिफारिशें क्या हैं?

  • ट्राई ने 'रेगुलेटरी फ्रेमवर्क फॉर ओवर-द-टॉप (ओटीटी) कम्युनिकेशन सर्विसेस' नाम से अपनी सिफारिशों में किसी भी फर्म का नाम नहीं लिया है। ट्राई ने साफ तौर पर कहा है कि ओटीटी प्लेटफॉर्म्स के लिए किसी तरह के रेगुलेशन की आवश्यकता नहीं है। इन सेवाओं में फेसबुक मैसेंजर, वॉट्सऐप, ऐपल फेसटाइम, गूगल चैट, स्काइप, टेलीग्राम और माइक्रोसॉफ्ट टीम्स, सिस्को वेबेक्स, जूम, गूगल मीट्स जैसी नई सर्विसेस भी शामिल हैं।
  • ट्राई ने यह भी कहा कि भविष्य में इंटरनेशनल टेलीकम्युनिकेशन यूनियन (आईटीयू) की स्टडी के आधार पर इस मुद्दे पर नए सिरे से देखने की आवश्यकता पड़ सकती है। पूरी दुनिया में इन ओटीटी प्लेटफॉर्म्स को रेगुलेट करने की संभावनाएं तलाशी जा रही हैं।
  • ट्राई ने सिक्योरिटी और प्राइवेसी के मुद्दे पर कहा कि ओटीटी कम्युनिकेशन सर्विसेस का ढांचा अभी विकसित हो रहा है। एंड-यूजर्स की प्राइवेसी को बनाए रखने के लिए एनक्रिप्शन टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल हो रहा है। यह किसी भी अथॉरिटी को क्लियर टेक्स्ट फॉर्मेट में कम्युनिकेशन हासिल करने से रोकती है।

ट्राई की सिफारिशें सही हैं या गलत?

  • किसी भी नतीजे पर पहुंचने से पहले यह सोचना होगा कि इसके परिणाम क्या हो सकते हैं। पूरी तरह से रेगुलेशन न होना खतरनाक हो सकता है। फेसबुक, वॉट्सऐप जैसे प्लेटफॉर्म न्यूज और सूचना हासिल करने के साधन बन चुके हैं। जब टीवी चैनल और न्यूजपेपर को हिंसा भड़काने या समुदाय में नफरत फैलाने का दोषी ठहरा सकते हैं तो सोशल मीडिया को क्यों नहीं?
  • अगर ट्राई की मानें तो सोशल मीडिया की इस पर कोई जवाबदेही नहीं होगी। सिर्फ इतना कहा जाएगा कि सामग्री हटा लीजिए। इतने पर जवाबदेही भी खत्म हो जाएगी। जब कानूनों ने भी सोशल मीडिया को एक मीडिया मान लिया है तो इसका रेगुलेशन भी होना ही चाहिए।
  • ट्राई की सिफारिशों ने मोबाइल ऑपरेटरों के ग्रुप सीओएआई यानी सेलुलर ऑपरेटर एसोसिएशन ऑफ इंडिया को नाराज कर दिया है। उसका कहना है कि यह तो बराबरी नहीं हुई। ओटीटी सेवाएं इस तरह के रेगुलेशन न होने पर राष्ट्रीय सुरक्षा के लिए खतरा बनी रहेंगी।
  • सीओएआई के डीजी एसपी कोचर का कहना है कि दूरसंचार कंपनियों को सख्त रेगुलेटरी और लाइसेंसिंग फ्रेमवर्क में बांधा गया है। यह ओटीटी सेवाएं दूरसंचार सेवाओं का स्थान ले सकती हैं तो इन्हें रेगुलेशन में क्यों नहीं बांधा गया है। यह दूरसंचार कंपनियों के साथ अच्छा नहीं है।

रेगुलेशन पर इन कंपनियों का क्या कहना है?

  • नैस्कॉम, यूएस-इंडिया बिजनेस काउंसिल जैसे डिजिटल ऐप्लिकेशन प्रोवाइडर ओटीटी के लिए किसी भी तरह के रेगुलेटरी फ्रेमवर्क के खिलाफ हैं। ओटीटी कंपनियों का दावा है कि उनकी सेवाएं मोबाइल ऑपरेटर्स से अलग हैं। कम्युनिकेशन के लिए कोई डेडिकेटेड एंड-टू-एंड चैनल नहीं है।
  • वॉट्सऐप का कहना था कि यदि ट्रेसेबिलिटी का फीचर विकसित किया तो यह एंड-टू-एंड एनक्रिप्शन को कमजोर करेगा। वॉट्सऐप के प्राइवेट नेचर को भी प्रभावित करेगा। गंभीर दुरुपयोग की संभावना बढ़ जाएगी। हम प्राइवेसी प्रोटेक्शन को कमजोर नहीं करना चाहते।

क्या मोबाइल कंपनियों को ओटीटी सर्विसेस की वजह से नुकसान हो रहा है?

  • लगता तो नहीं है। 5-6 साल पहले टेलीकॉम ऑपरेटर्स ने मांग उठाई थी कि ओटीटी प्लेटफॉर्म्स को 'वन सर्विस, वन रूल' के तहत रेगुलेटरी फ्रेमवर्क में लाना चाहिए। उस समय वॉट्सऐप, फेसबुक, स्काइप से कॉल करना फ्री था और इसका नुकसान टेलीकॉम ऑपरेटर्स को होता था।
  • हालांकि, अब समय बदल गया है। उस समय डेटा 50 रुपए प्रति जीबी था और वॉयस व मैसेज सर्विस के पैसे वसूले जाते थे। जियो के आने के बाद डेटा 3-5 रुपए प्रति जीबी हो गया है। टेलीकॉम कंपनियां भी कॉलिंग सेवाएं लगभग मुफ्त ही कर चुकी हैं। मैसेज भी फ्री ही हैं।

3 दिसंबर को लॉन्च होगा दो सेल्फी कैमरे वाला इंफिनिक्स जीरो 8i, जानिए कीमत

3 दिसंबर को लॉन्च होगा दो सेल्फी कैमरे वाला इंफिनिक्स जीरो 8i, जानिए कीमत

इंफिनिक्स जीरो 8i Smart Phone हिंदुस्तान में 3 दिसंबर को लॉन्च होगा, कंपनी ने हाल ही में इसकी घोषणा की. इसे पिछले महीने पाक में 8GB रैम और 128GB स्टोरेज में लॉन्च किया गया था. फोन के इसी वैरिएंट को हिंदुस्तान में लॉन्च किए जाने की आशा है. खास बात यह है कि फोन में एक क्वाड रियर कैमरा सेटअप मिलेगा, जिसमें मेन कैमरे के तौर पर 48-मेगापिक्सल का प्राइमरी सेंसर होगा साथ ही फोन में सेल्फी के लिए दो लेंस दिए गए हैं. फोन ऑक्टा-कोर मीडियाटेक हीलियो G90T प्रोसेसर पर कार्य करेगा.

कंपनी ने सोशल मीडिया पर इसकी घोषणा की है कि इंफिनिक्स जीरो 8i को इस वर्ष 3 दिसंबर को हिंदुस्तान में लॉन्च किया जाएगा. Smart Phone इंफिनिक्स जीरो 8 का ही अपग्रेड वैरिएंट है, जिसे अगस्त में लॉन्च किया गया था. कंपनी एक एंड्रॉयड टीवी और एक स्नोकोर-ब्रांडेड साउंडबार भी दिसंबर में लॉन्च कर सकती है, लेकिन अभी तक इसकी दिनांक ें सामने नहीं आई हैं.

इंफिनिक्स जीरो 8i: मूल्य (संभावित)

  • जब इंफिनिक्स Smart Phone को पिछले महीने पाक में लॉन्च किया गया था, तो इसके सिंगल वैरिएंट 8GB रैम, 128GB स्टोरेज मॉडल की मूल्य PKR 34,999 (यानी लगभग 16,300 रुपए) थी.
  • इसे ब्लैक डायमंड, ग्रीन डायमंड और सिल्वर डायमंड कलर ऑप्शन में लॉन्च किया गया है. आशा की जा सकती है कि फोन की मूल्य हिंदुस्तान में भी इतनी ही रखी जा सकती है और इन्ही कलर ऑप्शन में पेश किया जा सकता है.

इंफिनिक्स जीरो 8i: स्पेसिफिकेशन

  • इंफिनिक्स जीरो 8i में 6.85 इंच का फुल-एचडी प्लस डिस्प्ले है जिसमें सेल्फी कैमरा सेटअप के लिए डुअल पंच होल-पंच कट-आउट और 90Hz रिफ्रेश रेट है.
  • यह एंड्रॉयड 10 पर बेस्ड XOS7 त्वचा पर कार्य करता है. Smart Phone में 8GB रैम के साथ ऑक्टा-कोर मीडियाटेक हीलियो G90T प्रोसेसर मिलेगा.
  • इसमें 4500mAh की बैटरी मिलेगा और सिक्योरिटी के लिए साइड-माउंटेड फिंगरप्रिंट स्कैनर दिया गया है.
  • कैमरे की बात करें तो, इंफिनिक्स जीरो 8i में क्वाड रियर कैमरा सेटअप है जिसमें 48-मेगापिक्सल का प्राइमरी लेंस है. इसमें अल्ट्रा-वाइड-एंगल लेंस के साथ 8-मेगापिक्सेल सेंसर, 2-मेगापिक्सेल तीसरा सेंसर और एक एआई सेंसर भी है.
  • वीडियो कॉल और सेल्फी के लिए, Smart Phone में अल्ट्रा-वाइड-एंगल लेंस के साथ 16-मेगापिक्सल का प्राइमरी सेंसर और 8-मेगापिक्सल का सेकेंडरी सेंसर है.

Pakistan में बलात्कारियों को मिलेगी अब यह सजा       इस वजह के चलते China की तरफ से इस ऑस्ट्रेलियाई Journalist को मिल रही धमकियां       आज तमिलनाडु और पुडुचेरी के तट से टकराएगा चक्रवाती तूफान 'निवार'       कोविड-19 मामलों की संख्या 92 लाख के पार, 7वें नंबर पर हिंदुस्तान       नगर निगम की इस लापरवाही से 8 वर्ष में भी नहीं बन पाया स्वीमिंग पूल       कारागार से विधानसभा वोट देने पहुंचे बाहुबली अनंत सिंह       आदिवासियों के जबरन धर्म बदलाव पर कठोर हुए मुख्यमंत्री शिवराज       यूपी में स्मार्ट मीटर कंज़्यूमर ओं से लिखित फीडबैक लेंगे बिजलीकर्मी       गोल्ड स्मगलिंग के आरोप में दो लोग गिरफ्तार       Rajasthan: आबकारी विभाग का सिपाही लापता       सोने की कीमतें 54 रुपए गिरकर 48,531 रुपए प्रति 10 ग्राम तक पहुंची       3 दिसंबर को लॉन्च होगा दो सेल्फी कैमरे वाला इंफिनिक्स जीरो 8i, जानिए कीमत       Flipkart पर प्रारम्भ हो रही है Black Friday सेल, मिलेगा बम्पर डिस्काउंट       6000mAh बैटरी के साथ बजट मूल्य में लॉन्च हुआ Poco M3       1 जनवरी से मोबाइल नंबर में बिना ‘0’ लगाए नहीं हो पाएगी बात       पिता की मृत्यु के गम में डूबे सिराज, कोहली ने ऐसे बढ़ाया हौसला       इस क्रिकेटर को किया गया प्लेयर्स ऑफ डेकेड अवार्ड के लिए नामित       IND vs AUS: ऑस्ट्रेलिया के विरूद्ध नयी जर्सी में दिखेंगे टीम इंडिया के खिलाड़ी       आस्ट्रेलिया के विरूद्ध दो टेस्ट मैच नहीं खेल सकेंगे इशांत और रोहित       चेन्नईयिन एफसी ने जमशेदपुर एफसी को 2-1 से हराया, अनिरुद्ध थापा ने किया रिकॉर्ड गोल