पुराना फोन बेचने से पहले कर दें 'फैक्ट्री रिसेट' बच जाएंगे नुकसान से!

पुराना फोन बेचने से पहले कर दें 'फैक्ट्री रिसेट' बच जाएंगे नुकसान से!

जी हां स्मार्टफोन के जमाने में लोग अपना फोन एक दो साल पर चेंज कर ही देते हैं। इसके लिए तमाम कंपनियां 'एक्सचेंज ऑफर' भी लांच करती ही रहती हैं। वहीं इस एक्सचेंज ऑफर के जरिए कई लोग अपना पुराना फोन रिप्लेस कर देते हैं, तो कई लोग दुकानों पर अपना सेकंड हैंड फोन सेल कर देते हैं।

लेकिन अधिकांश लोग फोन बेचने से पहले वह कुछ सावधानियां नहीं बरतते हैं, जिसका उन्हें बाद में पता चलता है कि बड़ा नुकसान हो गया है। 

इससे ना केवल उनका डाटा लीक होता है, बल्कि कई बार सेंसिटिव जानकारियां भी वायरल हो जाती हैं। इससे बचने के लिए आपको अपना फोन एक्सचेंज करने से पहले फैक्ट्री रिसेट अवश्य कर देना चाहिए। ऐसा करने से फोन में मौजूद सारा डाटा हट जाएगा और सॉफ्टवेयर शुरुआती स्थिति में आ जाएगा।

अगर जरुरी हो तो फैक्ट्री रिसेट करने से पहले आप अपने फोन का बैकअप जरूर ले लें, ताकि डाटा डिलीट होने के बाद आपको किसी प्रकार की कठिनाई न हो। 

आईये जानते हैं आप अपने फोन को उसने से फैक्ट्री रिसेट कैसे करें? 

एंड्राइड फोन में फैक्ट्री रिसेट करने के लिए आपको सेटिंग का इस्तेमाल करना है, और जब भी आप यह प्रक्रिया शुरू करने के बारे में सोचते हैं, तब आप देख लें कि आपके स्मार्टफोन में फुल बैटरी है या नहीं है। अगर आपका फ़ोन फुल चार्ज नहीं है तो उसे चार्जिंग में लगा दें, क्योंकि स्मार्ट फोन में फैक्ट्री रिसेट में समय अवश्य लगता है। 

अब आप अपने स्मार्टफोन की सेटिंग ओपन करें और सिस्टम का चयन करके रिसेट ऑप्शन में जाइए। यहां पर इरेज़ ऑल डाटा और कई बार यह 'फैक्ट्री सेटिंग' के नाम से भी बटन होता है, इसको दबाने के बाद इरेज़ ऑल डाटा का ऑप्शन आ जाएगा। इस पर आपको टैप करना है और अगर फोन में सिक्योरिटी ऑप्शन है, तो सिक्योरिटी ऑप्शन दबाते ही फोन डाटा डिलीट करने लगेगा। 

रिकवरी मोड का प्रयोग करके भी आप फैक्ट्री डाटा रिसेट कर सकते हैं ! जी हां रिकवरी मोड में भी फैक्ट्री रिसेट का ऑप्शन आजमा सकते हैं। इसके लिए आपका स्मार्टफोन ऑफ होना जरूरी है।

इसके बाद पावर और वॉल्यूम डाउन बटन को एक साथ प्रेस करना पड़ेगा, स्क्रीन स्मार्ट होने तक उसे  दबाए रहिये। पावर बटन, टेक्स्ट और नेविगेशन इंस्ट्रक्शन की ओर इशारा करते हुए जैसे ही स्टार्ट वर्ड वाली स्क्रीन नजर आये, तब आप चयन के लिए पावर बटन और नेविगेट करने के लिए वॉल्यूम बटन यूज करें। 

रिकवरी मॉड जब नजर नहीं आए तब तक आप वॉल्यूम डाउन बटन को हिट किये रहिए। इसके बाद चयन के लिए पावर बटन प्रेस करें। इसके बाद फोन भी स्टार्ट होगा और ट्रबल में एक एंड्राइड रोबोट नजर आएगा, फिर आपको पावर बटन प्रेस करके रखना है और पावर बटन को दबाए रखते हुए वॉल्यूम बटन को दबाना है। 

वॉल्यूम बटन का इस्तेमाल करते हुए वाइप डाटा फैक्ट्री रिसेट को हाईलाइट कीजिए और फिर आप ऑप्शन का चयन करने के लिए पावर बटन प्रेस करें। यश का चयन करके कंफर्म कीजिए और आगे का काम फोन अपने आप ही करेगा। जैसे यह काम होगा रिबूट सिस्टम का चयन करने पर भी यह कार्य अपने आप ही संपादित हो जाएगा। 

देखा जाए तो यह आपके बड़े काम का है और जब भी आप फैक्ट्री रिसेट इस्तेमाल करते हैं, तब आप यह सुनिश्चित करते हैं कि आपका डाटा किसी अनऑथराइज्ड पर्सन के हाथ में ना जाए।


सिर्फ एक हफ्ते में मिला 33 प्रतिशत से ज्यादा रिटर्न

सिर्फ एक हफ्ते में मिला 33 प्रतिशत से ज्यादा रिटर्न

शुक्रवार को खत्म हुआ शेयर बाजार का हफ्ता बढ़त का हफ्ता रहा है. इस दौरान प्रमुख इंडेक्स में एक प्रतिशत से ज्यादा की बढ़त रही है, हालांकि स्टॉक्स के अलग अलग प्रदर्शन पर नजर डालें तो इस हफ्ते निवेशकों को 33 प्रतिशत तक का रिटर्न मिला है. वैसे बाजार में कई अन्य छोटी कंपनियों के स्टॉक्स में इससे ऊंचे रिटर्न भी मिले हैं. हालांकि छोटी कंपनियों में तेज उतार-चढ़ाव को देखते हुए हम यहां पर सिर्फ बीएसई 500 कंपनियों के प्रदर्शन को ही दे रहे हैं. जानिये मार्केट के अलग अलग सेग्मेंट में कहां हुई निवेशकों की कमाई

शेयर बाजार में इस हफ्ते कमाई से जुड़ी खास बातें

  1. बीएसई 500 में शामिल 11 स्टॉक्स में 10 प्रतिशत से ज्यादा की बढ़त देखने को मिली है.
  2. सबसे ज्यादा बढ़त वोडाफोन आईडिया में दर्ज हुई है. स्टॉक एक हफ्ते में 33 प्रतिशत बढ़ गया है.
  3. गुजरात फ्लोकैमिकल्स एक हफ्ते में 21 प्रतिशत और आईएफसीआई 14 प्रतिशत बढ़ा है
  4. वहीं बीएसई 500 में करीब 100 स्टॉक्स ऐसे रहे हैं जिनका हफ्ते का रिटर्न 4 प्रतिशत से ज्यादा रहा.
  5. बीएसई पर लिस्टेड सभी कैटेगरी की कंपनियों में सबसे ज्यादा तेजी श्रीजी ट्रांस लॉजिस्टिक्स में रही है जो सिर्फ एक हफ्ते में 91 प्रतिशत तक बढ़ गया .

कैसा रहा दिग्गज कंपनियों का प्रदर्शन

सेंसेक्स में शामिल 18 कंपनियां हफ्ते के दौरान बढ़त के साथ बंद हुई हैं. इसमें से भी एचसीएल टेक, टीसीएस और इंडसइंड बैंक में एक हफ्ते के दौरान 5 प्रतिशत से ज्यादा तेजी दर्ज हुई. यानि इन स्टॉक्स में निवेशकों ने सिर्फ एक हफ्ते के दौरान सरकारी बैंकों के एक साल के एफडी रेट्स से ज्यादा रिटर्न पा लिया है. इसके साथ ही बीएसई 100 में सबसे ज्यादा 7.48 प्रतिशत का रिटर्न बजाज होल्डिंग्स ने दिया है.

कैसा रहा सेक्टर का प्रदर्शन

ऑटो सेक्टर में इस हफ्ते सबसे आगे कमिंस इंडिया रही. कंपनी का स्टॉक एक हफ्ते में 5.35 प्रतिशत बढ़ा है. वहीं बैंकिग सेक्टर में इंडसइंड बैंक के साथ एक्सिस बैंक ने भी लोगों को प्रमुख इंडेक्स से ज्यादा रिटर्न दिया. आईटी सेक्टर में इस हफ्ते निवेशकों की जमकर कमाई करायी, सेक्टर की स्मॉलकैप कंपनी एचसीएल इंफोसिस्टम्स 33 प्रतिशत से ज्यादा बढ़ी है, वहीं रैम्को सिस्टम्स में 20 प्रतिशत से ज्यादा की तेजी दर्ज हुई है. मेटल सेक्टर में एनएमडीसी एक हफ्ते के दौरान 7.5 प्रतिशत बढ़ गया है.