सब्जियों की कीमतों में लगी आग, जाने नई किमते

सब्जियों की कीमतों में लगी आग, जाने नई किमते

नयी दिल्लीः सब्जियों की कीमतों में इस वक्त आग लगी हुई है। लोगों की थाली से आलू-टमाटर व प्याज सहित अन्य हरी सब्जियां गायब हो रही हैं। टमाटर का भाव देश में 80 से 100 रुपये प्रति किलो के बीच है। वहीं आलू-प्याज भी 40 से 50 रुपये प्रति किलो के बीच मिल रहा है। बारिश के कारण सब्जियों की आवक मंडियों में कम हो गई है, जिसके कारण मांग व आपूर्ति में बहुत ज्यादा अंतर हो गया है।

कोलकाता में टमाटर 100 रुपये
कोलकाता में टमाटर 100 रुपये प्रति किलो की दर से फुटकर मार्केट में मिल रहा है। देश में अन्य स्थान ये सब्जी 60 से 80 रुपये प्रति किलो की दर से मिल रही है। ये ही हाल इस वक्त आलू व प्याज का है। आलू की मूल्य 50 रुपये प्रति किलो व प्याज भी इसी भाव में मिल रहा है। दिल्ली में लगातार सब्जियों के दाम में बढ़ोतरी हो रही है। गाजीपुर सब्जी मंडी में एक सब्जी विक्रेता ने बताया, "बारिश में सब्जियां बेकार हो गई है इसलिए सब्जी महंगी हो गई है। इस समय टमाटर 60 रुपये किलो बिक रहा है व 1300-1400 रुपये कैरेट बिक रहा है।

अन्य सब्जियों की ये है कीमत
- आलू                 40

- प्याज                40-50

- टमाटर             60-70

- गोभी               100

- शिमला मिर्च     80

- परवल              80

- बीन्स               80

- भिंडी               50-60

- खीरा               40

- हरी मिर्च          120-140

- लहसुन            150-160

- पत्ता गोभी        80

एशिया की सबसे बड़ी थोक फल व सब्जी मंडी आजादपुर (Azadpur-APMC)) में टमाटर का दाम 40 से 60 रुपये किलो चल रहा है। आजादपुर मंडी के पीपीए टोमैटो एसोसिशन के अशोक कौशिक ने बोला कि कम सप्लाई की खबरों से टमाटर के दाम चढ़ रहे हैं। कौशिक ने बताया कि बारिश के चलते फसल को हुए नुकसान की वजह से नयी फसल की आवक पर प्रभाव पड़ा है।

केन्द्र सरकार की तरफ से प्याज के निर्यात पर पांबदी लागए जाने के विरोध में महाराष्ट्र के लासलगांव, नासिक जैसे इलाको में किसान सड़कों पर उतर आए है। किसान केंद्र सरकार से निर्यात पर लगी रोक को हटाने की मांग कर रहे हैं।

उत्तर प्रदेश, राजस्थान, झारखंड, पंजाब, तमिलनाडु, केरल, जम्मू और कश्मीर व अरुणाचल प्रदेश में इस बार टमाटर की पैदावार पर प्रभाव पड़ा है। आंकड़ों के मुताबिक, देश में टमाटर का सालाना उत्पादन 1.97 करोड़ टन व खपत 1.51 करोड़ टन की है। दिल्ली में क्वालिटी व इलाकों के हिसाब से टमाटर 60 से 80 रुपये किलो बिक रहा है। शनिवार को पूर्वी दिल्ली की शाहदरा मंडी के आसपास टमाटर 60 रुपये व कृष्णा नगर में 80 रुपये किलो बिक रहा था।    

400 रुपये किलो है धनिया पत्ता
धनिया पत्ता लगभग मार्केट से गायब है। इस वक्त इसकी मूल्य 400 रुपये प्रति किलो है आपकों बता दें कि अगले महीने से सारे देशभर भर में प्योहारों का सीजन प्रारम्भ होने वाला है व ऐसे ही सब्जियों के रेट हाई होते रहे तो लोगों का सब्जियां खाना दुभर हो जाएगा।

बारिश ने फसल की बर्बाद
आजादपुर मंडी के थोक बिज़नस मैन संदीप खंडेलवाल ने बताया कि बारिश के कारण अधिकांश किसानों की फसलें बर्बाद हो गई हैं। ऐसे में बची हुई फसल का दाम खुद ही बढ़ गया है। रही ठीक कसर कोविड-19 महामारी के दौरान हुए लॉकडाउन ने पूरी कर दी।

देशभर में किसान केन्द्र सरकार के इस निर्णय को लेकर बहुत ज्यादा नाराज दिखाई दे रहे हैं। गरीबों की समस्याओं का हल निकालने के लिए नरेन्द्र मोदी सरकार को निश्चित तौर पर कोई बड़ा कदम उठाना चाहिए। क्योंकि समाज में गरीब व धनी के बीच की दूरियों को समाप्त करने के लिए एक ऐतिहासिक परिवर्तन लाने वाला कदम उठाने की दरकार है। इस मंहगाई का सबसे बड़ा दर्द गरीब तबके को ही झेलना पड़ता है। मंहगाई का प्रकोप सिर्फ सब्जियों तक सीमित नहीं है। ऐसे में मोदी जी कुछ करिए, क्योंकि मंहगाई डायन खाए जात है।