बीएसएससी प्रथम इंटर स्तरीय मुख्य परीक्षा में बचे 1218 अभ्यर्थियों का 18 को लेगा एग्जाम

बीएसएससी प्रथम इंटर स्तरीय मुख्य परीक्षा में बचे 1218 अभ्यर्थियों का 18 को लेगा एग्जाम

बिहार कर्मचारी चयन आयोग (बीएसएससी) प्रथम इंटरस्तरीय संयुक्त प्रवेश परीक्षा के अंतर्गत मुख्य परीक्षा 18 अक्टूबर को दो पालियों में लेगा। इसकी तैयारी पूरी हो चुकी है। यह परीक्षा उन 1218 अभ्यर्थियों की होगी जो 2016 में आवेदन के दौरान तकनीकी गलती के कारण गैर आरक्षित श्रेणी में शामिल कर लिए गए थे। परीक्षा में शामिल होने के लिए अभ्यर्थी आयोग की आधिकारिक वेबसाइट https://bssc.bihar.gov.in/NoticeBoard.htm से एडमिट कार्ड डाउनलोड कर सकते हैं। आयोग के सचिव ओम प्रकाश पाल ने बताया कि परीक्षा के परिणाम जारी होने के तुरंत बाद अल्प सूचना में ही टाइपिंग, शारीरिक दक्षता परीक्षा, आशुलेखन आदि परीक्षा आयोजित की जाएगी। ऐसे में छात्रों को तैयार रहने की जरूरत है।

बिहार कर्मचारी चयन आयोग (बीएसएससी) की प्रथम इंटरस्तरीय संयुक्त प्रवेश परीक्षा से 13,120 पदों पर नियुक्ति होनी थी। इग्जाम में पिछले महीने गड़बड़ी उजागर हुई थी।  2016 में दोबारा लिए गए आवेदन में तकनीकी गड़बड़ी से बिहार के छात्रों को भी अन्य राज्यों की आरक्षित श्रेणी में रखने के कारण उन्हें आरक्षण का फायदा नहीं मिला था। इससे अभ्यर्थी प्रारंभिक परीक्षा में पास नहीं हुए और मेन इग्जाम की दौड़ से भी बाहर हो गए। प्रथम इंटरस्तरीय संयुक्त प्रवेश परीक्षा की काउंसिलिंग के लिए जब बिहार कर्मचारी चयन आयोग (बीएसएससी) ने रिजल्ट की समीक्षा कराई तो गड़बड़ी सामने आ गई। ऐसे में राज्य के रिजर्वेशन के लाभ के से 1218 छात्रों का प्रारंभिक परीक्षा में पास होना तय था, लेकिन दूसरे राज्य का अभ्यर्थी मान  इन्हें आरक्षण का लाभ नहीं मिला। इससे छात्र मुख्य परीक्षा नहीं दे सके।


समस्तीपुर में नामांकन के दौरान रुपये बांट रहे निवर्तमान मुखिया का वीडियो वायरल

समस्तीपुर में नामांकन के दौरान रुपये बांट रहे निवर्तमान मुखिया का वीडियो वायरल

पटोरी प्रखंड कार्यालय परिसर में एक निवर्तमान मुखिया के द्वारा नामांकन के पश्चात सरकारी कर्मी और पुलिसकर्मियों के बीच रुपये बांटने का वीडियो वायरल हुआ है। वायरल वीडियो इंटरनेट मीडिया पर चर्चा का विषय बना हुआ है। इसे काफी तेजी से शेयर किया जा रहा है तथा कई प्रकार के कमेंट्स भी आ रहे हैं। हालांकि दैनिक जागरण इस वायरल वीडियो की पुष्टि नहीं करता है किंतु इसकी शिकायत पटोरी के प्रखंड विकास पदाधिकारी सह निर्वाचन अधिकारी को लिखित रूप से मिली है। शिकायत मिलने के पश्चात प्रखंड विकास पदाधिकारी ने इस मामले की छानबीन का जिम्मा पटोरी के सीओ सह नोडल पदाधिकारी विकास कुमार को सौंप दिया है।


वायरल वीडियो में स्पष्ट दिखाया गया है कि पटोरी प्रखंड के हरपुर सैदाबाद के निवर्तमान मुखिया अवधेश राय नामांकन के पश्चात प्रखंड कार्यालय परिसर में स्थित मंदिर में पूजा अर्चना के पश्चात पुलिस और सरकारी कर्मियों तथा वहां मौजूद लोगों के बीच 500 रुपए के नोट बांटते नजर आ रहे हैं। इस संबंध में पूछे जाने पर पटोरी के अंचल पदाधिकारी विकास कुमार ने बताया की वायरल वीडियो तथा मिली शिकायत के पश्चात अभ्यर्थी के विरुद्ध आचार संहिता के उल्लंघन की प्राथमिकी पटोरी थाने में दर्ज कराई गई है।

 
बिना नामांकन कराए बैरंग लौटी महिला मुखिया प्रत्याशी

वारिसनगर। प्रखंड में शनिवार से शुरू हुए नामांकन प्रक्रिया में तब अजीबोगरीब स्थिति पैदा हो गई। जब मोहिउद्दीनपुर पंचायत से नामांकन करने आयी एक महिला प्रत्याशी को प्रखंड विकास पदाधिकारी सह प्रखंड निर्वाची पदाधिकारी रंजीत कुमार वर्मा ने बिना नामांकन कराए बैरंग वापस कर दिया। उनका बताना था कि उक्त पंचायत से अंशु कुमारी पति आशीष आनंद मुखिया पद से नामांकन करने आयी थी। परंतु उनके द्वारा प्रस्तुत कागजात में जन्मतिथि 30 अगस्त 2001 होने पर निर्वाचन के लिए तय उम्र सीमा 21 वर्ष की अहर्ता पूर्ण नही करने के कारण उसके नामांकन पत्र को वापस कर दिया गया। बताया गया कि बीडीओ ने कहा कि उम्र 20 साल ही पूरा हो रहा है। ऐसे में नामांकन के बाद भी वह रद हो जाएगा। इस पर प्रत्याशी बिना नामांकन किए हुए वापस लौट गई।