Bihar: लालू प्रसाद की सेहत में सुधार, दिल्ली एम्स से हुए डिस्चार्ज

Bihar: लालू प्रसाद की सेहत में सुधार, दिल्ली एम्स से हुए डिस्चार्ज

लालू प्रसाद (Lalu Prasad) को दिल्ली एम्स (AIIMS) ने डिस्चार्ज कर दिया है. उन्हें पिछले शुक्रवार को लगातार बुखार रहने के बाद एम्स में भर्ती कराया गया था. लालू प्रसाद को हार्ट और किडनी की गंभीर बीमारी है, और इसके लिए वह दिल्ली में अपनी बड़ी बेटी मीसा भारती के यहां रहकर अपना इलाज करा रहे हैं.

लालू प्रसाद के सेहत में काफी सुधार हुआ है. एम्स से डिस्चार्ज होने के बाद वे अब मीसा भारती के सरकारी आवास में आ गए हैं. बीते शुक्रवार की देर शाम अचानक उन्हें दिल्ली के AIIMS में भर्ती कराया गया था. जिसके बाद उनके शुभचिंतक चिंतित हो गए थे. हालांकि तब भी डॉक्टरों ने उन्हें किसी प्रकार के खतरे से बाहर बताया था.

ज्यादा पानी पीने से बिगड़ी सेहत !

लालू प्रसाद के बीमार होने के बाद डॉक्टरों ने बताया कि ज्यादा पानी पीने की वजह से उनकी सेहत बिगड़ गई और यूरिन में इंफेक्शन हो गया था. इससे उन्हें काफी कमजोरी भी हो गई थी. जेल से निकलने के बाद उनकी पत्नी राबड़ी देवी लगातार उनके साथ रहकर उनकी देखभाल कर रही थी. लेकिन इस समय वो विधानमंडल के शीतकालीन सत्र में हिस्सा ले रही हैं.

सोशल मीडिया से सक्रिय हैं लालू

बीमार रहने के बावजूद लालू प्रसाद सोशल मीडिया और मीडिया के जरिए राजनीतिक रूप से सक्रिय है, और लगातार नीतीश सरकार और बीजेपी पर हमलावर रहते हैं. नीति आयोग क रिपोर्ट आने पर उन्होंने कड़े शब्दों मे नीतीश कुमार की आलोचना की थी और कहा था उन्हें चुल्लू भर पानी में डूब जाना चाहिए. लालू प्रसाद के अमर्यादित बयान पर नीतीश कुमार ने कोई प्रतिक्रिया नहीं दी थी.

23 नवंबर को पटना में पेश हुए RJD सुप्रीमों

लालू प्रसाद 22 नबंवर को चारा घोटाला मामले में पेश होने के लिए पटना आए थे. वो बांका उपकोषागार से फर्जी बिल के जरिए 46 लाख रुपए की अवैध निकासी मामले में मुख्य आरोपी हैं. यहां 23 नवंबर को सीबीआई की विशेष अदालत में पेशी के बाद लालू प्रसाद ने राजद कार्यालय में 6 टन के लाल संगमरमर की लालटेन को जलाया था. बिहार दौरे के दौरान लालू प्रसाद ने शराबबंदी पर भी निशाना साधा था और इसे पूरी तरह फेल बताया था. तब लालू प्रसाद ने जहरीली शराब से लोगों की हो रही मौत और राजस्व के नुकशान का हवाला देकर शराबबंदी को समाप्त करने की बात कही थी.


बिहार दर्दनाक हादसा! SBB कैंप पर गिरा हाई वोल्टेज तार, इतने जवानो की मौत

बिहार दर्दनाक हादसा! SBB कैंप पर गिरा हाई वोल्टेज तार, इतने जवानो की मौत

बिहार के सुपौल जिले में एसएसबी की 45वीं बटालियन के वीरपुर कैंप में शुक्रवार को एक बड़ा हादसा हो गया। यहां हाई वोल्टेज तार की चपेट में आने से तीन ट्रेनी जवानों की मौत हो गई, जबकि आठ झुलस कर घायल हो गए। इसमें से चार घायलों को डीएमसीएच रेफर कर दिया गया है। हादसे के बाद कैंप में अफरा तफरी का माहौल है।  



तीनों की मौके पर ही हुई मौत
मृतकों में महाराष्ट्र निवासी अतुल पाटिल (30 वर्ष), परशुराम सबर (24 वर्ष) और महेंद्र चंद्र कुमार बोपचे (28 वर्ष) हैं। इनकी मौके पर ही मौत हो गई थी। वहीं घायल जवान नरसिंह चौहान, के चंद्रशेखर, परितोष अधिकारी, मांडवे राजेंद्र, मोहम्मद शमशाद, सुकुमार वर्मा, सोना लाल यादव और आनंद किशोर को अनुमंडल अस्पताल लाया गया है। प्रारंभिक इलाज के बाद चार घायल जवानों को रेफर कर दिया गया है। 

टेंट उतारते समय पाइप से छू गया तार 
जानकारी के मुताबिक, वीरपुर कैंप में 45वीं बटालियन के कमांडेंट एचके गुप्ता का ट्रांसफर हो गया। इसी सिलसिले में बुधवार सुबह उनकी विदाई समारोह का आयोजन किया गया था। यहां टेंट और तंबू लगाया गया था। कार्यक्रम समाप्त होने के बाद शुक्रवार दोपहर करीब साढ़े बारह बजे ट्रेनी जवानों को टेंट खोलने के लिए लगाया गया। इसी दौरान ऊपर से गुजर रहे हाई वोल्टेज तार से टेंट का एक पाइप छू गया और करंट पूरे टेंट में उतर आया। एक साथ काम कर रहे सभी जवान इसकी चपेट में आ गए। इस हादसे के बाद वीरपुर कैंप में हड़कंप मच गया।